मुंबई. टीवी पर प्रसारित होने वाले कुछ शो लोकप्रिय होते हैं, लेकिन कुछ यादगार बन जाते हैं. इन्हीं में से एक है ज़ी टीवी (Zee TV) का मशहूर शो ‘सा रे गा मा पा’ (SA RE GA MA PA). यह शो संगीत का ऐसा प्रतिष्ठित मंच है, जिसने भारतीय टेलीविजन पर टैलेंट-बेस्ड रियलिटी शोज़ की अगुवाई की है. इस क्षेत्र में क्रांति लाई है. इस चैनल की ‘आज लिखेंगे कल’ की फिलॉसफी को पेश किए जाने से बहुत पहले ही इस शो ने पीढ़ी दर पीढ़ी देश के उभरते गायकों को अपनी सुनहरी आवाज प्रस्तुत करने का मंच दिया है. यही नहीं इन सितारों को जी टीवी ने संगीत की दुनिया में असाधारण भविष्य बनाने का बेमिसाल मौका प्रदान किया है. Also Read - हो गया कन्फर्म! आपके ये फेवरेट सीरियल्स इस दिन से नए एपिसोड के साथ करेंगे वापसी

चाहे वो सोनू निगम (Sonu Nigam) हों, या श्रेया घोषाल (Shreya Ghoshal), कुणाल गांजावाला (Kunal Ganjawala), संजीवनी (Sanjeevani), रंजीत रजवाड़ा (Ranjeet rajwada), कमाल खान (Kamal Khan) या अमानत अली (Amanat Ali) हों, संगीत जगत के इन सितारों को इसी मंच से पहला ब्रेक मिला. ये सभी संगीत के इस भव्य ‘मक्का’ को अपनी शानदार सफलता का श्रेय देते हैं. हर सीजन में इस शो ने न सिर्फ संगीत के नए-नए रूप पेश किए, बल्कि शुद्ध संगीत का जश्न मनाने के लिए सारे देश को एक साथ लाया. पिछले साल ‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स’ की जबर्दस्त सफलता के बाद, ज़ी टीवी अब अपने प्रतिष्ठित एवं मशहूर सिंगिंग रियलिटी शो ‘सा रे गा मा पा’ के एक और रोमांचक सीजन के साथ लौट आया है. Also Read - TV दर्शकों के लिए बड़ी खुशखबरी, इन फेमस सीरियलों की शूटिंग दोबारा चालू, देखें सीधे सेट से खास Photos

Saregama-Judges Also Read - सुशांत को स्टारडम तक का राह दिखाने वाली एकता कपूर ने लिखा ये इमोशनल नोट, दी आखिरी विदाई 

‘म्यूजिक फॉर ऑल’ यानी ‘संगीत सभी के लिए’ के मूल विचार के साथ म्यूजिक से बने हम के जरिए ‘सा रे गा मा पा’ का नया सीजन संगीत को सारी दुनिया की एक भाषा के रूप में पेश करेगा. ‘सा रे गा मा पा’ का नया सीजन जाति, धर्म, रंग, समुदाय और लिंगभेद के खिलाफ खड़े होकर सिर्फ टैलेंट पर ही केंद्रित रहेगा. यानी जिस प्रतिभागी में प्रतिभा होगी, वही इस शो के जरिए नया मुकाम हासिल करेगा. इस शो की फिलॉसफी इसके आकर्षक जिंगल ‘हारेगा हारेगा’ में स्पष्ट रूप से नजर आती है, जो यह बताता है कि भेदभाव करना हारने वालों की निशानी है और संगीत ही एकमात्र विजेता है. एस्सेल विजन के बैनर तले बना ‘सा रे गा मा पा’ आगामी 13 अक्टूबर से शुरू हो रहा है. इसका प्रसारण हर शनिवार और रविवार रात 9 बजे ज़ी टीवी पर किया जाएगा.

ज़ी टीवी की बिजनेस हेड अपर्णा भोसले ने कहा, ‘बच्चों के एक्टिंग टैलेंट हंट शो ‘इंडियाज़ बेस्ट ड्रामेबाज़’ की अपार सफलता के बाद अब हम ‘सा रे गा मा पा’ का ताजा सीजन पेश कर रहे हैं, जो सिंगिंग की दुनिया में उत्कृष्टता के स्वर्णिम आयाम स्थापित करने के लिए जाना जाता है. इस शो ने देश को एक से बढ़कर एक गायक देने में लगातार सफलता हासिल की है. ताजा सीजन में ‘सा रे गा मा पा’ सभी तरह के भेदभाव से ऊपर उठकर सभी को संगीत की एक यूनिवर्सल भाषा में भी पिरोएगा. इसकी मूल विचारधारा है ‘म्यूजिक से बने हम’. भेदभाव की इन्हीं बेड़ियों को तोड़ते हुए हमने इस सीजन में उम्र की सीमा भी खत्म कर दी है. गे-आइकॉन सुशांत दिवगीकर को हमारे जजों ने केवल उनकी आवाज की काबिलियत पर प्रतिभागी के तौर पर चुना है, जो इस सीजन की सभी को शामिल करने की भावना को बड़ी खूबसूरती से दर्शाता है. इसके लिए हमने एक बेहद प्रभावशाली मार्केटिंग अभियान भी शुरू किया है, जिसमें अपनी तरह की पहली पैरोडी पॉलीटिकल पार्टी- राष्ट्रीय संगीत पार्टी का एलान किया गया है. इस पार्टी के जरिए यह चैनल जाति, धर्म, और लिंगभेद को नजरअंदाज करते हुए लोगों को एक साथ लाकर संगीत का जश्न मना रहा है. इस शो के जजों ने इस अभियान को समर्थन देने के लिए अपना हाथ बढ़ाया है.

Sona-Mahapatra

Aditya-Narayan

इस सीजन में मल्टी-टैलेंटेड सिंगर सोना मोहापात्रा पहली बार जज के रूप में नजर आएंगी. वहीं ‘सा रे गा मा पा’ के अन्य दिग्गज मशहूर संगीतकार वाजिद खान और करिश्माई सिंगर कंपोजर एवं एक्टर शेखर रावजियानी भी होंगे. इस शो में संगीत जगत के 15 जाने-माने विशेषज्ञों का एक प्रतिष्ठित पैनल भी होगा, जो सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागी को चुनने में मेंटर्स की मदद करेगा. शो में होस्ट के रूप में वापसी कर रहे हैं युवा और जोशीले गायक आदित्य नारायण, जिनका आकर्षण दर्शकों में हमेशा जोश जगाए रखता है. मेंटर सोना मोहापात्रा कहती हैं, ‘सा रे गा मा पा’ मेरे लिए बेहद खास है, क्योंकि मैं पहली बार जज बनकर टीवी पर आ रही हूं. भारतीय टेलीविजन के ऐसे प्रतिष्ठित मंच के साथ जुड़कर मुझे बेहद गर्व हो रहा है. इतना ही नहीं, मुझे इस बात का भी गर्व है कि इतने वर्षों में इस शो के जजों के पैनल में शामिल होने वाली मैं पहली महिला हूं. मैं ऐसे शो का हिस्सा बनकर बेहद खुश हूं.’

Wajid-Khan

उन्होंने कहा कि जजों के पैनल में रहते हुए मुझे इस शो के प्रतिभागियों में लगन, विश्वसनीयता और सच्चे हुनर की तलाश होगी. मेंटर वाजिद खान कहते हैं, ‘मैं पिछले तीन सीजन से ‘सा रे गा मा पा’ से जुड़ा हुआ हूं और मुझे इस सीजन का भी बेसब्री से इंतजार है. इस शो ने देशभर के गायकों को आगे बढ़ने और अपना हुनर दिखाने के लिए एक प्रतिष्ठित मंच देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. मैं आज की पीढ़ी की नई आवाज सुनने को भी बेताब हूं.’ उन्होंने कहा कि ‘सा रे गा मा पा’ का यह सीजन संगीत की काबिलियत पर केंद्रित है, जो भेदभाव मिटाकर वैश्विक शांति लाने की पहल करता है.

Shekhar-Ravjani

मेंटर शेखर रावजियानी कहते हैं, ‘सा रे गा मा पा’ मेरे दिल के बेहद करीब है. इस शो से जुड़ी मेरी बहुत-सी खूबसूरत यादें हैं. अब मुझे नई यादें बनाने और भारतीय संगीत के भविष्य की नई आवाजें सुनने और उन्हें मेंटर करने का इंतजार है. मैंने पिछले सीजन में जितने लोगों को भी देखा, वो सभी हमेशा बेमिसाल रहे हैं. खासतौर से 2007 का सीजन, जब इस शो ने एक नया इतिहास रचा था. अब मुझे ‘सा रे गा मा पा’ के एक नए अध्याय का इंतजार है, जो भारत में संगीत की अलख जगाने का अपना अभियान जारी रखेगा.’ उन्होंने कहा कि साल 2018 में यह शो एक और नया आयाम स्थापित करने को तैयार है. इस शो में हम ऐसा टैलेंट देखेंगे जो इससे पहले कभी नहीं देखा गया.

Sona-Sushant

इस शो के ऑडिशन मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, गुवाहाटी, रांची, ईटानगर, पटना, जयपुर, अमृतसर, चंडीगढ़, लखनऊ, बेंगलुरु, इंदौर और अहमदाबाद जैसे शहरों में हुए, जहां से बेस्ट सिंगिंग टैलेंट को खोज निकालने में कोई कसर नहीं छोड़ी गई. इनमें से चुनिंदा प्रतिभागियों को मेंटर के पैनल के सामने परफॉर्म करने का शानदार अवसर मिलेगा, जिसमें वे सारे देश के सामने संगीत के प्रति अपनी सच्ची लगन पेश कर सकते हैं. तो आप भी ‘सा रे गा मा पा’ के संगीत में सफर में शामिल होने के लिए तैयार हो जाइए. शुरू हो रहा है 13 अक्टूबर 2018 से, हर शनिवार और रविवार रात 9 बजे सिर्फ ज़ी टीवी पर.