भाजपा विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने जीरो फिल्म के निर्माताओं की तरफ से दिया गया स्पष्टीकरण स्वीकार कर लिया है. सिरसा ने फिल्म के निर्देशक आनंद एल. राय और अभिनेता शाहरुख खान से फिल्म से एक आपत्तिजनक दृश्य हटाने का आग्रह किया था. उन्होंने सिखों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए दोनों के खिलाफ एक शिकायत दर्ज करने की पुलिस से आग्रह किया था.

फिल्म निर्माता की प्रतिक्रिया की प्रशंसा करते हुए सिरसा ने ट्वीट किया, “यह अच्छी बात है कि आपने समय पर स्पष्टीकरण दे दिया है. हम आपके तर्क को स्वीकार करते हैं. धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली किसी भी चीज का स्पष्टता के साथ स्पष्टीकरण दिया जाना चाहिए.” यह विवाद ट्रेलर में एक दृश्य के कारण शुरू हुआ, जिसमें लगता है कि शाहरुख ने सिखों के धार्मिक प्रतीक कटका कृपाण अंडरवियर के नीचे पहन रखा है.

दिल्ली के विधायक सिरसा ने मांग की कि इस दृश्य को तत्काल हटाया जाए. फिल्म की पीआर टीम ने उन्हें लिखे पत्र में कहा कि फिल्म में कृपाण कहीं नहीं दिखाया गया है. पीआर टीम ने कहा है, “चित्र में दिखाई देने वाली वस्तु एक कटार है और खालसा पंथ अपनाने वालों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली कृपाण से उसका कोई लेना-देना नहीं है.”

जवाब में कहा गया है, “जीरो फिल्म की टीम स्पष्ट करती है कि वे इस बारे में बिल्कुल सजग हैं कि सिख समुदाय की भावनाओं को कहीं से ठेस न पहुंचे.” शाहरुख खान, अनुष्का शर्मा और कैटरीना कैफ स्टारर यह फिल्म 21 दिसंबर को रिलीज होने वाली है.

(इनपुट आईएएनएस)