कार्तिक शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि और मंगलवार का दिन है. तृतीया तिथि देर रात 1 बजकर 18 मिनट तक रहेगी. प्रतिपदा तिथि सुबह 7 बजकर 7 मिनट तक रहेगी. आज आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए आज के पंचांग में शुभ मुहूर्त, राहुकाल के साथ-साथ सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय, चंद्रास्त और व्रत-त्योहार के बारे में. Also Read - Aaj Ka Panchang 27 November 2020: आज शुक्ल पक्ष द्वादशी पर देखें पंचांग, शुभ-अशुभ समय, राहुकाल

पंचांग पांच चीजों के योग से बनता है, यह हैं तिथि, नक्षत्र, वार, योग और करण। 17 नवम्बर 2020 दिन मंगलवार के दैनिक पंचाग के अनुसार शुभ मुहूर्त, राहुकाल, सूर्योदय और सूर्यास्‍त का समय, तिथि, करण, नक्षत्र, सूर्य, चंद्र व दिशाशूल की स्थिति, मास व पक्ष की जानकारी के बारे में जानें यहां. Also Read - Aaj Ka Panchang 26 November 2020: आज शुक्ल पक्ष द्वादशी पर देखें पंचांग, शुभ-अशुभ समय, राहुकाल

आज का शुभ मुहूर्त
सुकर्मा योग – दोपहर 3 बजकर 36 मिनट तक
रवि योग – दोपहर 12 बजकर 22 मिनट से कल सुबह 10 बजकर 40 मिनट तक
ज्येष्ठा नक्षत्र – दोपहर 12 बजकर 22 मिनट तक
अभिजित मुहूर्त – सुबह 11 बजकर 21 मिनट से दोपहर 12 बजकर 5 मिनट तक Also Read - Aaj Ka Panchang 25 November 2020: आज शुक्ल पक्ष एकादशी पर देखें पंचांग, शुभ-अशुभ समय, राहुकाल

सूर्योदय और चंद्रोदय का समय
सूर्योदय का समय : सुबह 6 बजकर 17 मिनट
सूर्यास्त का समय : शाम 5 बजकर 9 मिनट
चंद्रोदय का समय: रात 8 बजकर 23 मिनट
चंद्रास्त का समय : शाम 7 बजकर 13 मिनट

विशेषः- मंगलवार के दिन बजरंगबली की पूजा का विशेष महत्व है

विक्रम संवतः- 2077

शक संवतः- 1942

आयनः- दक्षिणायन

ऋतुः- हेमन्त ऋतु

मासः- कार्तिक माह

पक्षः- शुक्ल पक्ष

तिथिः- द्वितीया तिथि 07:16:07 तक तदोपरान्त तृतीया तिथि

तिथि स्वामीः- द्वितीया तिथि के स्वामी ब्रह्म हैं तथा तृतीया तिथि के स्वामिनी माँ पार्वती हैं।

नक्षत्रः- स्वाती नक्षत्र 08:52:25 तक तदोपरान्त ज्येष्ठा

नक्षत्र स्वामीः- स्वाती नक्षत्र के स्वामी राहु देव जी हैं तथा ज्येष्ठा नक्षत्र के स्वामी बुध देव जी है।

योगः- प्रीति 17:12:06 तक तदोपरान्त सुकर्म.

तिथि का महत्वः- इस तिथि में बैंगन और नींबू नही खाना चाहिए यह तिथि प्रतिष्ठा, यात्रा, विवाह, आभूषण आदि के लिए शुभ है.