नई दिल्ली: आज 29 सितंबर 2020 है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक आज त्रयोदशी तिथि है. हर महीने की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत रखा जाता है. इस दिन विशेष रूप से भोलेनाथ की पूजा की जाती है क्योंकि यह तिथि उन्हें बेहद प्रिय है. माना जाता है कि इस व्रत को रखने से सभी कष्टों से मुक्ति मिलती है. इस माह यह प्रदोष व्रत अधिक मास में पड़ रहा है इसलिए इसका महत्व और भी बढ़ गया है. मंगलवार के दिन पड़ने से इसे भौम प्रदोष व्रत भी कहा जाता है. मंगलवार के दिन में पडने वाले प्रदोष व्रत का नियम पूर्वक पालन कर उपवास करना चाहिए. यह व्रत उपवासक को धर्म, मोक्ष से जोडने वाला और अर्थ, काम के बंधनों से मुक्त करने वाला होता है. कहते हैं कि भौम प्रदोष के दिन हनुमान जी की उपासना करने से हर तरह के कर्ज से मुक्ति मिलती है. ऐसे में इस दिन मंगल दोष की समस्या से परेशान लोग कुछ खास उपाय करके इससे मुक्ति पा सकते हैं. आइए जानते हैं उन उपायों के बारे मेंAlso Read - क्या साथ आएंगे तेजस्वी यादव और चिराग पासवान? लालू प्रसाद ने की गठबंधन की वकालत

– भौम प्रदोष के दिन शाम को हनुमान जी के सामने चमेली के तेल का दीपक जलाएं. Also Read - Devar-Bhabhi Ka Pyar: भाभी को हुआ देवर से प्यार, पति ने खुशी-खुशी करा दी दोनों की शादी

– उन्हें हलवा पूरी का भोग लगाएं. Also Read - MP News: मध्य प्रदेश में बारिश और बिजली गिरने से अब तक 69 की मौत, दर्जनों घायल

– भाव सहित सुन्दरकाण्ड का पाठ करें.

– मंगल दोष की समाप्ति की प्रार्थना करें.

– हलवा पूरी का प्रसाद निर्धनों में बांट दें.

– मंगल दोष की पीड़ा से छुटकारा मिलेगा.

असाध्य रोगों से मुक्ति के लिए करें ये उपाय

– प्रातःकाल लाल वस्त्र धारण करके हनुमान जी की उपासना करें.

– हनुमान जी को लाल फूलों की माला चढ़ाएं, दीपक जलायें और गुड़ का भोग लगायें.

– ताम्बे का तिकोना टुकड़ा भी अर्पित करें.

– इसके बाद संकटमोचन हनुमानाष्टक का 11 बार पाठ करें.

– गुड़ का भोग बाटें और ग्रहण करें.