कोरोना की वजह से बंद वैष्णो देवी मंदिर का दरबार एक बार फिर से खुल गया है, त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित वैष्णो देवी मंदिर को कोविड-19 महामारी के कारण लगभग पांच महीनों तक बंद रखे जाने के बाद 16 अगस्त को फिर से खोला गया था. ऐसे में उस दौरान करीब दो हजार लोग माता के दर्शन हर दिन कर सकते हैं. Also Read - Shardiya Navratri 2020: इस नवरात्रि त्योहार को बनाएं और भी खास, भारत के इन प्रसिद्ध मंदिरों में करें मां दुर्गा के दर्शन

लेकिन एक महीने के बाद माता वैष्णो देवी के दर्शन करने आने वाले यात्रीयों का कोटा बढ़ा दिया गया है. जहां पहले दो हजार श्रद्धालुओं के दर्शन करने की सीमा तय की गई थी जिसमें जम्मू कश्मीर के बाहर श्रद्धालुओं की संख्या 500 थी और 1500 स्थानीय थी. वहीं अब इसे बढ़ा दिया गया है. अब जम्मू कश्मीर के 4500 और अन्य राज्यों से 500 यात्री माता वैष्णो देवी के दर्शन कर सकेंगे. Also Read - Vaishno Devi Travel Guidline: अब सात हजार यात्री हर दिन करेंगे माता वैष्णो देवी के दर्शन, जानें क्या है नए नियम

दूसरे राज्य से आए लोग करवाएंगे कोरोना टेस्ट
श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने कहा है कि 30 सितंबर तक आने वाले श्रद्धालुओं को ऑनलाइन अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा. इसके साथ ही मां वैष्णो देवी के प्रवेश द्वार पर हर किसी को रैपिड टेस्ट करवाया जाएगा. वहीं दूसरे राज्य से आने वाले लोग अपना कोरोना रिर्पोट खुद लेकर आएंगे. हालांकि इसकी वैधता केवल 48 घंटे ही मानी जाएगी. Also Read - माता वैष्णो देवी के भक्‍तों के लिए खुशखबरी, अब प्रसाद की होम डिलीवरी, जानें डिटेल

मिल रही है सारी सुविधाएं
अगर आप माता के दर्शन के लिए आ रहे हैं तो ऐसे में आपको इस दौरान हर तरह के आदेशों का पालन करना है. कोरोना के बावजूद वहां पहुंच रहे हर यात्री को हेलीकॉप्टरबैटरी कार सेवा और बाकि सुविधाएं मिल रही हैं.

रविंद्र रैना ने किए दर्शन
इसी दौरान वहां पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना ने माता के चरणों में आए. इस दौरान वो माता की आरती का हिस्सा बनेंगे और वहीं पर मौजूद वैष्णो देवी भवन पर ही रहेंगे.