हिन्दू धर्म ग्रंथों में एकादशी तिथि को सर्वश्रेष्ठ तिथि माना गया है. इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. एकादशी तिथि के दिन किए गए जप, तप और दान का पुण्य कई हजार गुना होता है. लेकिन साथ ही इस दिन कुछ कार्य वर्जित भी हैं. Also Read - Ekadashi Calendar 2020: नए साल में आएंगे 25 एकादशी व्रत, देखें पूरे साल का व्रत कैलेंडर...

Also Read - Mokshada Ekadashi: क्यों करते हैं मोक्षदा एकादशी व्रत? जानिए व्रत की कथा और इसका महत्व

Aja Ekadashi 2018: इस व्रत के फल से ही राजा हरिश्चन्द्र को वापस मिला था राजपाठ, यह है व्रत कथा Also Read - Mokshada Ekadashi 2019: इस दिन मनाई जाएगी मोक्षदा एकादशी, जानिए शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

क्या ना करें:

1. एकादशी के दिन चावल नहीं खाना चाहिए. मन चंचल होता है और प्रभु भक्ति से एकाग्र हटता है.

2. पान, तम्बाकू, जर्दा, सुपारी, शराब आदि नशीली वस्तुओं का सेवन ना करें.

3. दातुन वर्जित होता है. पेड़ की डाली ना तोड़ें.

4. एकादशी की रात सोना नहीं चाहिए. बैठकर भजन कीर्तन करना चाहिए.

5. रात्रि जागरण के नाम पर जुआ ना खेलें.

6. झूठ ना बोलें.

7. क्रोध ना करें.

अजा एकादशी व्रत 2018: जानिये तारीख, शुभ मुहूर्त और व्रत विधि

8. उपवास करें या नहीं, पर ब्रह्मचर्य का पालन जरूर करें.

9. छोटी या बड़ी किसी भी प्रकार की चोरी ना करें.

10. किसी प्रकार हिंसा या चुगली ना करें.

Vrat Festivals from 01 to 30 Sep 2018: सितंबर में आने वाले त्योहारों की सूची, देखें

क्या करें:

1. विशेष मनोकामनाओं के लिए विशेष चीज़ों का दान करें. अन्यथा केवल अन्न का दान करें

2. वस्त्र , जूते या छाते का दान करें

3. शीघ्र विवाह के लिए केसर , केला या हल्दी का दान करें

4. वाद विवाद या मुक़दमे से मुक्ति के लिए- मीठी चीज़ों का, विशेषकर गुड़ का दान करें

5. संतान प्राप्ति के लिए – पीपल का वृक्ष लगवाएं

इस मन्त्र का जाप करें

– “ॐ नमो नारायणाय”

धर्म और आस्‍था से जुड़ी खबरों को पढ़ने के ल‍िए यहां क्‍ल‍िक करें.