नई दिल्ली: पंचांग के मुताबिक, अखुरथ संकष्टी चतुर्थी  (Akhuratha Sankashti Chaturthi 2021) का व्रत भगवान गणेश के लिए रखा जाता है. इस इस पूरे विधि विधधान के साथ भगवान गणेश की पूजा की जाती है. गणेश चतुर्थी का व्रत हर महीने की चतुर्थी तिथि को किया जाता है. हिंदू पंचांग के अनुसार, पौष मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को अखुरथ संकष्टी चतुर्थी कहा जाता है. इस साल अखुरथ संकष्टी चतुर्थी का व्रत 2 जनवरी 2021 यानी आज है. इस दिन भगवान गणेश की विधिवत पूजा करने से भक्तों की समस्त मनोकामनाएं पूरी होती हैं,और जीवन की सभी समस्याएं दूर होती हैं.

अखुरथ संकष्टी चतुर्थी मुहूर्त (Akhuratha Sankashti Chaturthi 2021 Muhurat)
अखुरथ संकष्टी चतुर्थी शनिवार, जनवरी 2, 2021 को
चतुर्थी तिथि प्रारम्भ – जनवरी 02, 2021 को 09:09 बजे
चतुर्थी तिथि समाप्त – जनवरी 03, 2021 को 04:22 बजे

अखुरथ संकष्टी चतुर्थी पूजन विधि (Akhuratha Sankashti Chaturthi 2021 Pujan Vidhi)
सुबह स्नान करें. साफ कपड़े पहनें. भगवान गणेश का पूजन करें. उन्हें तिल, गुड़, लड्डू, दुर्वा, चंदन चढ़ाएं. गणेश वदंन करें. भगवान गणेश के मंत्रों का जप करें. पूरा दिन व्रत रहें. शाम के समय चांद निकलने से पहले गणपित का पूजन करें. व्रत कथा कहें या सुनें. चंद्रमा को अर्घ्य दें.