लोकसभा चुनाव 2019 में जीत हासिल कर पीएम मोदी 30 मई, गुरुवार को पद की शपथ लेंगे. ये दिन इसलिए भी खास है क्‍योंकि इस दिन अपरा एकादशी है.Also Read - शपथ ग्रहण के दौरान जब भीड़ में फंसीं आशा भोसले, स्मृति ईरानी ने कुछ इस तरह की मदद

Also Read - अपरा एकादशी 2018: व्रत कथा सुनें और सुनाएं, मिलेगा अपार सुख

शनिदेव को प्रसन्न करने के 5 बेजोड़ उपाय, करके तो देखें… Also Read - अपरा एकादशी 2018: धनवान बनने के लिए ऐसे करें पूजन, जानें महत्व भी

अपरा एकादशी 2019

ज्येष्ठ मास में कृष्ण पक्ष में आने वाली एकादशी को अपरा एकादशी कहा जाता है. इस साल ये एकादशी 30 मई को है.

भगवान विष्णु का दिन

इस दिन भगवान विष्णु के वामन रूप की पूजा होती है. नारायण 5वें अवतार में वामन ऋषि का रूप धारण कर अवतरित हुए थे.

क्‍या है महत्‍व

कहा जाता है अपरा एकादशी व्रत करने से अपार धन की प्राप्ति होती है और सारे पाप नष्ट हो जाते हैं.

कैसे करें व्रत

एक दिन पहले ही इस व्रत को करने का संकल्प लिया जाता है. रात को भगवान का ध्यान करके सोएं. अपरा एकादशी के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठें. स्नान-ध्यान कर पीला वस्त्र धारण करें. नारायण और उनके वामन अवतार को प्रणाम करें. उनका पूजन करें. धूप-दीप के साथ प्रसाद, फल, फूल, अगरबत्ती, चावल, चंदन, दूध, हल्दी और कुमकुम से भगवान की पूजा करें. पूजा में तुलसी पत्ता, श्रीखंड चंदन, गंगाजल, मौसमी फलों का प्रसाद अर्पित करें. इसके बाद विष्णुसहस्रनाम का पाठ करें व कथा पढ़ें.