दिवाली का त्योहार हर साल कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष में मनाया जाता है. ये हिंदूओं के सबसे प्रमुख त्योहारों में से एक है. इस बार ये त्योहार 14 नवबंर को मनाया जा रहा है. कहा जाता है कि आज ही के दिन श्री राम अयोध्या वापस आए थे और अयोध्यावासियों ने उनके स्वागत की खुशी में अयोध्या नगरी को दुल्हन की तरह सजाया था, तब से लेकर आज तक लोग इस परंपरा का पालन कर रहे हैं. Also Read - कर्नाटक की IPS ऑफिसर बोलीं- पटाखे जलाना 'हिंदू ट्रेडिशन' का हिस्सा नहीं, हो गईं ट्रोल

इसके साथ ही इस दिन मा लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा होती है और लोग आतिशबाजी करते हैं. दिवाली पर आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को वॉट्सऐप और फेसबुक मैसेंजर समेत दिवाली की शुभकामनाएं, तस्वीरें, संदेश आदि भजे सकते हैं. कोरोना है तो क्या हुआ आप अपनो के साथ इस त्योहार की खुशियां जरुर बांटे. ऐसे में आइए जानते हैं आप कौन से संदेश अपनों को भेज सकते हैं. Also Read - सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने इन लोगों से कहा- शुक्रिया, VIDEO शेयर कर जताया आभार, जानिए वजह

दिवाली के शुभकामना संदेश: Also Read - आश्रम की 'पम्मी' ने दिया अपने घर की रंगोली और दीया का Inside View, Aditi Pohankar की दिवाली मेमोरी

1. श्री राम जी आपके घर सुख की बरसात करें,
दुखों का नाश करें,
प्रेम की फुलझड़ी व अनार आपके घर को रोशन करें,
रोशनी के दीये आपकी जिंदगी में खुशियां लाएं!!

2. पल-पल से बनता है एहसास,
एहसास से बनता है विश्वास,
विश्वास से बनते हैं रिश्ते,
और रिश्ते से बनता है कोई खास!!
आपको दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं…

3. आशीर्वाद मिले बड़ों से,
सहयोग मिले अपनों से,
खुशियां मिले जग से,
दौलत मिले रब से,
यही दुआ करते हैं हम दिल से
Happy Diwali

4. नव दीप जले नव फूल खिले, नित नई बहार मिले
दीपावली के पावन अवसर पर आपको मां लक्ष्मी का आशीर्वाद मिले
Happy Diwali

5. दीपों का ये त्योहार,
लाया खुशियां हजार,
मुबारक हो आप सभी को,
दिवाली का त्योहार!!
-Happy Diwali…

6. कुमकुम भरे कदमों से
आए लक्ष्मी जी आपके द्वार
सुख-संपत्ति मिले आपको भरपूर
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं करें स्वीकार

7. सागर भरी खुशियां,
आसमान भरा प्यार,
मिठाई की खुशबू,
दीपों की बहार,
मुबारक हो आपको
दिवाली का त्यौहार
हैप्पी दिवाली!!

8. लक्ष्मी जी विराजें आपके द्वार…सोने चांदी से भर जाए आपका घर-बार।
जीवन में आयें खुशियाँ आपार… शुभकामनाएं हमारी करें स्वीकार।
ॐ महलक्ष्म्यै नमः ॥