August 2021 Vrat-Tyohar List In Hindi: अगस्त का महीना शुरू होने में कुछ ही दिन बाकी हैं. ऐसे में अगस्त माह में कई खास व्रत और त्योहार आएंगे. हिंदू पंचांग के मुताबिक, अगस्त 2021 में कामिका एकादशी, ओणम, रक्षाबंधन, श्रावण पूर्णिमा, जन्माष्टमी आदि त्यौहार आएंगे. इन व्रत-त्‍योहारों की पूरी लिस्‍ट हम यहां दे रहे हैं. इसे आप अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं

सावन का दूसरा सोमवार: – 02 अगस्त 2021- सावन के महीने का दूसरा सोमवार 2 अगस्त को पड़ रहा है. इस दिन भगवान शिव की पूजा अर्चना की जाती है.

कामिका एकादशी: – 04 अगस्त 2021, बुधवार- धार्मिक मान्यता के अनुसार, श्रावण मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को कामिका एकादशी के नाम से जाना जाता है. एकादशी तिथि भगवान विष्णु जी को समर्पित है.

कृष्ण प्रदोष व्रत: – 05 अगस्त 2021, गुरुवार- प्रदोष व्रत भगवान शिव का आशीर्वाद पाने के लिए रखा जाता है. यह व्रत प्रत्येक माह की त्रयोदशी तिथि के दिन रखा जाता है.

मासिक शिवरात्रि: – 06 अगस्त 2021, शुक्रवार- हिंदू धर्म में महाशिवरात्रि का तो महत्व माना ही जाता है लेकिन हर माह पड़ने वाली शिवरात्रि भी बहुत महत्व रखती है. हिंदू पंचांग के अनुसार, हर माह में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है.

श्रावण अमावस्या: – 08 अगस्त 2021, रविवार- धार्मिक मान्यता के अनुसार, अमावस्या तिथि पर पितरों की आत्मा की शांति के लिए कर्मकांड किया जाता है. इस दिन पवित्र नदी में स्नान किया जाता है.

सावन का तीसरा सोमवार: – 09 अगस्त 2021- सावन के महीने का तीसरी सोमवार 9 अगस्त को पड़ रहा है.

हरियाली तीज: – 11 अगस्त 2021, बुधवार- इसमें शादीशुदा महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और सुख समृद्धि के लिए व्रत रखती हैं. हर साल हरियाली तीज श्रावण शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनायी जाती है.

विनायक चतुर्थी: – 12 अगस्त 2021, बुधवार- हिंदू पंचांग के अनुसार प्रत्येक माह शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी के नाम से जाना जाता है. धार्मिक मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने से जातकों को सभी प्रकार के कष्टों से मुक्ति मिलती है और उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

नागपंचमी: – 13 अगस्त 2021, शुक्रवार- हर साल नाग पंचमी का पर्व श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि के दिन मनाया जाता है. इस दिन नाग देवता की पूजा का विधान है.

पुत्रदा एकादशी 18 अगस्त 2021, बुधवार– धार्मिक मान्यता के अनुसार, श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को श्राण पुत्रदा एकादशी के नाम से जाना जाता है. संतान सुख के लिए यह व्रत भगवान विष्णु जी के लिए रखा जाता है.

शुक्ल प्रदोष व्रत: – 20 अगस्त 2021, शुक्रवार- प्रदोष व्रत भगवान शिव के प्रिय व्रतों में से एक है. प्रदोष व्रत एक माह में दो होते हैं. हर पक्ष में एक प्रदोष व्रत पड़ता है.

ओणम: – 21 अगस्त 2021, शनिवार- इस पर्व को दक्षिण भारत खासतौर केरल में बड़ी ही धूम-धाम के साथ मनाया जाता है.

रक्षा बंधन  – 22 अगस्त 2021, रविवार- यह पर्व हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा तिथि को मनाया जाता है. इस दिन बहन अपने भाई की दीर्घायु और स्वस्थ जीवन के लिए उनकी कलाई में राखी बांधती है.

संकष्टी चतुर्थी, कजरी तीज: – 25 अगस्त 2021, बुधवार- कजरी तीज भाद्रपद माह की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि पर मनाई जाती है. इसे भादौ तीज भी कहा जाता है. इस व्रत में भी सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु का कामना में भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा विधिवत रूप से करती है.

जन्माष्टमी: – 30 अगस्त 2021, 2021- जन्माष्टमी भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव को ही कहा जाता है. पौराणिक ग्रंथों के मतानुसार श्री कृष्ण का जन्म का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को रोहिणी नक्षत्र में मध्यरात्रि के समय हुआ था.