Ayodhya Ram Mandir: अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण में अगर आप भी अपना कुछ सहयोग देना चाहते हैं तो अब आपके लिए रास्‍ता खुल गया है. इस‍के लिए आपको अयोध्‍या जाने की आवश्‍यकता भी नहीं है. Also Read - महंत नृत्यगोपाल दास से किए वादे को अमित शाह ने किया पूरा, 'श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट' का बनाया अध्यक्ष

रामलला के लिए एक स्थायी मंदिर निर्माण हेतु ‘श्री राम जन्मभूमि क्षेत्र ट्रस्ट’ के नाम से भारतीय स्टेट बैंक में करेंट अकाउंट खोला गया है. इसमें श्रद्धालु मंदिर निर्माण के लिए दान कर सकते हैं. पहले सभी दान किसी अन्य खाते में जमा किया जा रहा था, जिसे विवादित स्थल के रिसीवर यानी कमिश्नर द्वारा संचालित किया जाता था. Also Read - राम मंदिर बनने के बाद बढ़ेगा पयर्टन? इस सवाल पर सरकार ने कही ये बात

ट्रस्ट के एक सदस्य डॉक्टर अनिल मिश्रा ने बताया कि पिछले खाते में जमा 10 करोड़ रुपये को भारतीय स्टेट बैंक में खुले नए खाते में जमा किया गया है. Also Read - दिग्गज मुस्लिम नेता ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिया इतने रुपए का दान

मंदिर निर्माण की तैयारी

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा है कि परिसर को मंदिर निर्माण के अनुकूल बनाने में अभी छह माह लगेंगे. उन्होंने कहा कि भक्त दो-तीन वर्षो में श्रीराम के भव्य मंदिर के दर्शन कर सकेंगे. मंदिर निर्माण से पूर्व अधिगृहित परिसर को श्रद्धालुओं के लिए स्वच्छ और सुरम्य बनाया जाएगा, जिसकी प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है.

मंदिर निर्माण से पूर्व रामलला को अस्थायी तौर पर परिसर में ही वैदिक विद्वानों की देखरेख मे शिफ्ट किया जाएगा, ताकि भक्तों को भगवान का दर्शन लगातार होते रहें.

महंत ने कहा कि पूर्व में श्रीराम जन्मभूमि न्यास ने जिस मंदिर मॉडल को तैयार कराया और जिसे देश के संतों ने वेद मंत्रोच्चारण कर अनुमोदित किया और जिसका चित्र करोड़ों घरों में पूजा जा रहा है, वह भव्य मंदिर दो-तीन वर्षों में साक्षात स्वरूप में आने वाला है.

उन्होंने कहा, “श्रीराम का अवतरण मात्र दशरथ व कौशल्या को सुख प्रदान करने के लिए नहीं, अपितु समस्त मानव के कल्याण के लिए हुआ था. श्रीराम समस्त मानव को परस्पर प्रेम और सद्भाव का संदेश देने वाले हैं.”
(एजेंसी से इनपुट)