अयोध्या: भगवान राम, उनके भाई-लक्ष्मण, भरत एवं शत्रुघ्न पांच अगस्त को राम मंदिर के ‘भूमिपूजन’ (ram mandir bhoomi pujan) के अवसर पर रत्नजड़ित पोशाक पहनेंगे. रामदल सेवा ट्रस्ट के अधय्क्ष पंडित कल्की राम ने भगवान की मूर्तियों पर ये पोशाक पहनाएंगे. इन पोशाकों पर नौ तरह के रत्न लगाए गए हैं. Also Read - अयोध्या में मिली ज़मीन पर मस्जिद के पक्ष में नहीं है मुस्लिम निकाय, कहा- हॉस्पिटल और स्कूल बने

भगवान के लिए वस्त्र सिलने का काम करने वाले भगवत प्रसाद ने कहा कि भगवान राम हरे रंग की पोशाक पहनेंगे. भूमिपूजन बुधवार को होना है और इस दिन का रंग हरा होता है. 5 अगस्त को भूमि पूजन के बाद पीएम मोदी चांदी की ईंट से मंदिर निर्माण के लिए शिलान्यास करेंगे. यह चांदी की ईंट अयोध्या पहुंच गई है. यह शुद्ध चांदी की 22.6 किलोग्राम वजनी ईंट है. चांदी की आज के रेट के हिसाब से देखें तो इस ईंट की कीमत करीब 15 लाख 59 हजार है. Also Read - अयोध्‍या के राम मंदिर का 1000 साल का होगा जीवन काल, तेज भूकंप से भी नहीं होगा नुकसान

बता दें कि इससे पहले अयोध्या में भगवान रामलला की दर्शन अवधि में बदलाव किया गया. यहां पर दर्शन का समय एक घंटा के लिए बढ़ाया गया है. अयोध्या में प्रथम पाली में दर्शन का समय एक घंटा बढ़ाया गया. अब प्रथम पाली में रामलला के दर्शन सुबह 7 बजे से 12 बजे तक हो सकेंगे. यहां पर विश्राम के बाद दूसरी पाली में दो बजे से छह बजे तक दर्शन होते हैं. पहले प्रथम पाली में 7 बजे से 11 बजे तक दर्शन होते थे. राम मंदिर निर्माण की हलचलों की बीच यहां श्रद्घालुओं की आमद भी बढ़ गई है, जिसके कारण अयोध्या में भक्तों भीड़ देखी जा रही है. Also Read - मशहूर शायर मुनव्वर राना ने अयोध्या में मस्जिद के लिए दी गई जमीन पर राजा दशरथ के नाम से अस्पताल बनाने की मांग की