Basant Panchami 2019: बसंत पंचमी इस बार 10 फरवरी को है. इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है. प्राचीनकाल में बसंत पंचमी के दिन से ही बच्‍चों की शिक्षा आरंभ की जाती थी. आज भी यह परंपरा है. मां सरस्‍वती ज्ञान-विज्ञान, कला, संगी और शिल्‍प की देवी हैं. इस दिन बच्‍चे मां सरस्‍वती की आराधना अवश्‍य करें.

Basant Panchami 2019: बच्‍चे का पढ़ाई में नहीं लगता मन, करें ये काम, मां सरस्‍वती देंगी शिक्षा का वरदान

कहा जाता है कि मां सरस्‍वती की कृपा जिस पर हो जाए उसका भविष्‍य उज्‍जवल हो जाता है. चूंकि इस समय बोर्ड परीक्षाएं हो रही हैं या होने वाली हैं, ऐसे में मन अशांत हो जाता है और पढ़ाई की ओर ध्‍यान कम हो जाता है. अगर ऐसी कोई दिक्‍कत हो तो मां सरस्‍वती की पूजा करने से आपकी समस्‍या जल्‍द ही दूर हो जाएगी. अगर आप मां सरस्वती के मंत्र और श्लोक नहीं जानते हैं तो इन 11 नामों को 11 बार जपें. ऐसा करने से मां सरस्‍वती की आप पर विशेष कृपा होगी और आप परीक्षा की चिंता और असफलता के भय से दूर हो जाएंगे.

Basant Panchmi पर क्‍यों की जाती है कामदेव पूजा? दांपत्‍य जीवन पर होता है ये असर…

मां सरस्‍वती के 11 नाम
जय मां शारदा
जय मां सरस्वती
जय मां भारती
जय मां वीणावादिनी
जय मां बुद्धिदायिनी
जय मां हंससुवाहिनी
जय मां वा‍गीश्वरी
जय मां कौमुदी प्रयुक्ता
जय मां जगत ख्यात्वा
जय मां नमो चंद्रकांता
जय मां भुवनेश्वरी

इसके अलावा अगर आप परीक्षा की टेंशन को कम करना चाहते हैं तो देवी के एक मंत्र का जाप भी कर सकते हैं. यह मंत्र यूं आसानी से याद हो जाता है लेकिन अगर आप याद ना कर सकें तो इसे लाल स्याही से लिखकर स्टडी टेबल या दीवार पर पर लगा लें. इससे इसे याद करने और पढ़ने में आसानी रहेगी.

Basant Panchami 2019: बसंत पंचमी को भूलकर भी ना करें ये काम, रूठ जाती हैं मां सरस्‍वती…

आइए पढ़ें यह विशेष मंत्र…..
शारदायै नमस्तुभ्यं, मम ह्रदय प्रवेशिनी,
परीक्षायां समुत्तीर्णं, सर्व विषय नाम यथा

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.