Basant Panchami 2020: बसंत पंचमी (Basant Panchami) पर इस बार पांचांग भेद है. कई जगह ये 29 जनवरी को मनाई जा रही है तो पंडित इस पर्व के 30 जनवरी को होने की बात कह रहे हैं. Also Read - Basant Panchami 2020: बसंत पंचमी के 10 विशेष प्रयोग, इनसे मिलता है विद्या-वाणी का वरदान

Basant Panchami 30 Jan 2020

बसंत पंचमी इस बार 29 और 30 जनवरी को मनाई जाएगी. पर ज्‍योतिषी कह रहे हैं कि गुरुवार को बसंत पंचमी मनाना श्रेष्ठ और शास्त्र सम्मत होगा. दरअसल, पंचमी तिथि बुधवार सुबह 10.46 से शुरू होगी. ये गुरुवार दोपहर 1.20 तक रहेगी. चूंकि हिंदू धर्म में सूर्योदय की तिथि को प्रमुख माना जाता है ऐसे में गुरुवार यानी 30 जनवरी को पंचमी तिथि सूर्योदय के समय रहेगी. शास्त्रोक्त दृष्टि से बसंत पंचमी का पूजन सूर्योदय के समय करना श्रेष्‍ठ कहा गया है. Also Read - Happy Basant Panchami 2020: बसंत पंचमी पर भेजें Whatsapp Messages, Greetings, Photos, Images

Basant Panchami 2020: बसंत पंचमी पर कैसे हुई थी मां सरस्‍वती की उत्‍पत्ति, क्‍यों होती है कामदेव पूजा Also Read - Saraswati Puja 2020: कल है सरस्वती पूजा, जानिए कब है शुभ महूर्त और क्या है पूजा विधि

अमलकीर्ति योग

ज्‍योतिष के अनुसार, चंद्रमा से दशम भाव मे किसी ग्रह के रहने पर अमलकीर्ति योग बनता है. इसी दिन मां सरस्वती का अवतार माना जाता है. ये योग 30 जनवरी को बन रहा है.

क्‍या करें इस दिन

सरस्वती पूजा की जाती है. इनके साथ भगवान गणेश, लक्ष्मी की पूजा की जाती है. विद्या आरंभ करने का शुभ दिन है. वसंत ऋतु की शुरुआत भी इसी दिन से मानी जाती है.

Basant Panchami 2020 Panchang: बसंत पंचमी पर पहनें इस रंग के कपड़े, करें ये शुभ काम, देखें पूरे दिन का पांचांग

बसंत पंचमी का महत्व

बसंत पंचमी को ऋतुओं का राजा कहा जाता है. इस दिन से कड़कड़ाती ठंड खत्म होने लग जाती है और एक बार फिर मौसम सुहावना होने लग जाता है. हर तरफ हरियाली, पेड़-पौधों पर फूल, नई पत्तियां और कलियां खिलने लग जाती हैं. इस नज़ारे को गुलाबी ठंड और भी खास बना देती है. वहीं, हिंदू मान्यताओं के अनुसार बसंत पंचमी के दिन को मां सरस्वती का जन्मदिन माना जाता है. इस दिन उनकी विशेष पूजा होती है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.