Bhai Dooj 2018: पूरे देश में और नेपाल में आज भाई दूज का त्योहार मनाया जा रहा है. कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को यह त्योहार मनाया जाता है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन यमराज ने अपनी बहन को वचन दिया था कि जो भी भाई इस दिन अपनी बहन से तिलक लगवाएगा और उसके घर भोजन करेगा, उसे मेरा अर्थात यमराज का भय नहीं होगा. यही वजह है कि भाई दूज के इस त्योहार को यम द्वितीया भी कहा जाता है.

अगर बहन की शादी नहीं हुई है तो आज के दिन भाई को अपनी बहन के हाथ का बना भोजन खाना चाहिए. अगर अपनी कोई सगी बहन नहीं है तो चाचा, मामा आदि की पुत्री या पिता की बहन के घर जाकर भी भोजन कर सकते हैं.

Bhai Dooj 2018: भाई दूज शुक्रवार को, पढ़ें इससे जुड़ीं पौराणिक कथाएं

भाई दूज या यम द्वितीय 2018 के दिन तिलक का समय:

द्वितीय तिथि का आरंभ : 8 नवंबर 2018, गुरुवार 09:07 बजे.
द्वितीय तिथि समाप्त : 9 नवंबर 2018, शुक्रवार 09:20 बजे.
भाई दूज के दिन टीका करने का मुहूर्त : शुक्रवार दोपहर 01:09 से 03:17 बजे तक
मुहूर्त की अवधि : 02 घंटे 08 मिनट

Happy Bhai Dooj 2018 Wishes SMS Greetings: भाई दूज के मौके पर अपने भाई को भेजें ये 10 बेस्ट WhatsApp Status, Facebook मैसेज, Wishes, SMS, Images और DP

भाई दूज पूजन व तिलक लगाने की विधि:

भाई दूज का पूजन निश्चित पद्धति और रीति-रिवाज से किया जाता है. इसलिए इसकी विधि को ध्यान पूर्वक पढ़ें.

1. सबसे पहले सुबह स्नान कर स्वच्छ वस्त्र धारण कर लें और इसके बाद भाई के तिलक के लिए थाल सजा लें.
2. तिलक के लिए सजाई गई थाल में कुमकुम, सिंदूर, चंदन, फल, फूल, मिठाई, अक्षत और सुपारी आदि सामग्री रखी जाएगी.
3. पिसे हुए चावल के आटे या घोल से चौक बनाएं और शुभ मुहूर्त में इस चौक पर भाई को बिठाएं.
4. इसके बाद उन्हें तिलक लगा दें.
5. तिलक करने के बाद फूल, पान, सुपारी, बताशे और काले चने भाई को दें और उनकी आरती उतारें.
6. तिलक और आरती के बाद बहनें भाई को मिठाई खिलाती हैं और भाई उन्हें कोई उपहार देते हैं.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.