गुवाहाटी: असम में मंगलवार को फसल का पर्व माघ बिहू पारंपरिक उत्साह व उल्लास के साथ मनाया जा रहा है. असमिया कैलेंडर के हिसाब के बुधवार का दिन ‘माघ’ महीने का पहला दिन है. बिहू उत्सव मनाना सोमवार रात से शुरू हो गया, जो असमिया महीने ‘पुह’ के अंतिम दिन ‘उरुका’ को चिह्न्ति करता है. ‘उरुका’ की रात की दावत के बाद लोगों ने मंगलवार सुबह आग के देवता से प्रार्थना करने और नए साल के लिए आशीर्वाद लेने के लिए पारंपरिक अलाव ‘मेजी’ जलाया. लोग बुधवार से दोस्तों और परिवारों से मिलने जाएंगे.Also Read - Bihu 2018: तिथि, महत्व, इतिहास और पकवान, जानें सब कुछ

Pongal 2019: कैसे मनाते हैं पोंगल, चार दिन तक चलने वाले त्योहार के क्या-क्या हैं नाम

बता दें कि असम में एक साल में तीन बिहु मनाया जाता हैं. बोहाग (बैसाख, अप्रैल के मध्य), माघ (जनवरी के मध्य में) और काटी (कार्तिक, अक्टूबर के मध्य) के महीनों में. बिहु प्राचीन काल से ही असम में मनाया जा रहा हैं. प्रत्येक बिहु खेती कैलेंडर में एक विशिष्ट चरण के साथ मेल खाता हैं. सबसे महत्वपूर्ण और तीन बिहू उत्सव में सबसे रंगीन हैं वसंत महोत्सव “बोहाग बिहू” या रोंगाली बिहू जो कि अप्रैल के मध्य में मनाया जाता हैं. यह उत्सव कृषि सीज़न की शुरुआत को भी दर्शाता हैं. बिहु असम कि सभी भागो में और सभी जाति-जनजाति और धर्म के लोगो द्वारा मनाया जाता हैं. प्रत्यक्षतया यह कहा जा सकता हैं कि बिहु एक धर्मनिरपेक्ष त्योहार हैं जो भीन्न जाति और धर्म के बीच मानवता, शांति और भाईचारा लाता हैं.

Pongal 2019: तमिलनाडु में पारंपरिक उत्साह के साथ मनाया जा रहा पोंगल, देखें तस्‍वीरें

क्या-क्या बनता है बिहू में…

1. खार

असम के लोगों के लिए खास बहुत ही महत्वपूर्ण डिश है. इसमें अल्केलाइन या कहें कि क्षारीय तत्व डाला जाता है और पपीते के साथ-साथ जले हुए केले के तने का इस्तेमाल भी किया जाता है. इससे पेट की सफाई हो जाती है.

2. आलू पितिका

आलू पितिका सबसे आरामदायक डिश में से एक है. बिहार में इसे चोखा कहते हैं. उबले आलू को मसलकर, उसमें प्याज, हरी मिर्च, हरी धनिया पत्तियां, नमक और सरसों तेल डाला जाता है. आमतौर पर इसे चावल दाल और नींबू के साथ सर्व किया जाता है.

3. जाक

जाक या साग में सारी हरी और पत्तेदार सब्जियां होती हैं. हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से सेहत ठीक होती है और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

Kumbh 2019: कुंभ में आने वाले नागा साधुओं के बारे में वो बातें, जिससे आप भी होंगे अंजान

4. मसोर टेंगा

असम में लोग मछली खूब खाते हैं. इसमें सबसे ज्यादा मशहूर, प्रचलित और पसंदीदा डिश है, वह है मसोर टेंगा. यह थोड़ा खट्टा होता है. इसमें नींबू, कोकम, टमाटर, हर्ब्स, कोकम आदि डाला जाता है. इसे चावल के साथ खाते हैं.

5. मांगशो

मांगशो मटन करी डिश होता है. असम में यह डिश भी बहुत प्रचलित है. असम में इसे लूची यानी कि पुलाव के साथ खाते हैं. पारंपरिक पकवान के साथ बिहू का आनंद उठाएं.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.