बुध को युवराज ग्रह के नाम से भी जाना जाता है. क्योंकि यह बहुत शुभ है. लेकिन जब इसका मिलाप किसी अशुभ ग्रह से हो जाता है तो यह बुरे परिणाम भी देता है. बुध ग्रह कन्या राशि और मिथुन राशि का स्वामी है. यह प्रमुख रूप से बुद्धि, तर्क शक्ति, गणित, व्यापार और चेतना आदि का ग्रह है. Also Read - Narada Jayanti 2020 Date: नारद जयंती आज, जानें शुभ मुहूर्त और पूजन विधि

बुध जब अपना स्थान परिवर्तन करता है तो इन सभी कारकों पर असर होता है. इसलिए बुध की स्थिति का बदलना सभी ग्रहों पर कोई ना कोई असर डालता ही है. बुध ग्रह ने 27 मई को अपना स्थान परिवर्तन किया है. रविवार को 8:31 बजे मेष राशि से निकलकर बुध ग्रह वृषभ राशि के पाले में प्रवेश कर गया है. वृषभ राशि में बुध 10 जून 2018 तक रहेगा. जानें इस दौरान आपकी राशि पर क्या प्रभाव होगा. Also Read - पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया और फैसल इकबाल के बीच देश-धर्म को लेकर जुबानी जंग

मेष राशि: Also Read - VIDEO: गणतंत्र दिवस पर बॉलीवुड किंग शाहरुख़ खान बोले- 'मैं मुस्लिम हूं, पत्नी हिंदू और मेरे बच्चे हैं हिंदुस्तान'

mesh-rashi

इस राशि के जातकों की मानसिक चिंता बढ़ सकती है. वाणी में कड़वापन आने के कारण संबंध खराब हो सकते हैं. पारिवारिक कलह बढ़ सकती है. आय से ज्यादा व्यय हो सकता है.

वृषभ राशि:

vrishabh

बुध इसी राशि में प्रवेश कर रहा है, इसलिए इस राशि के जातकों की संवाद शैली में सुधार होगा और व्यक्तित्व आकर्षक होगा. लेकिन सीधे-सीधे कुछ भी कहने से बचें, यह घातक हो सकता है. निराशा और धन हानि हो सकती है.

मिथुन राशि:

mithun

बुध आपकी राशि से बारहवें भाव में गोचर करेगा. आपको सेहत से जुड़ी परेशानी हो सकती है. विदेश यात्रा का योग बन रहा है. मानसिक तनाव भी बढ़ सकता है. खर्चों में वृद्धि की संभावना है. निवास परिवर्तित हो सकता है. विवेक से लिया गया निर्णय लाभकारी होगा.

कर्क राशि:

kark

बुध इनके 11वें भाव में संचरण कर रहा है. विदेश संबंध से लाभ मिल सकता है. लाभ होगा. भाई-बहन का सहयोग प्राप्त होगा. प्रेम जीवन में मिश्रित परिणाम होंगे. रिश्ते में कम्युनिकेशन गैप ना रखें. इस दौरान आपको ज्यादा गुस्सा भी आ सकता है, जिसके कारण अशांत हो सकते हैं. खर्च में भी बढ़ातरी हो सकती है.

सिंह राशि:

singh

बुध सिंह राशि के 10वें भाव में गोचर कर रहा है. आपको बौद्धिक लाभ होगा. अच्छे काम के कारण आप चर्चा में रहेंगे. ऑफिस में सीनियर्स का सहयोग मिलेगा. घर का वातावरण शांत रहेगा. बड़े भाई-बहन करियर में मददगार होंगे. लेकिन निराशा भी हाथ लग सकती है.

कन्या राशि:

kanya-rashi

लाभ के द्वार खुलेंगे, नवीन संपर्क बढ़ेंगे, नवीन संपर्क, उपयोगी धन आगमन होगा. बुध आपकी राशि से 9वें भाव में गोचर कर रहा है. आपकी किस्मत चमक सकती है. मान-सम्मान बढ़ेगा. आर्थिक लाभ होगा. नये अवसर प्राप्त होंगे. जॉब में परिवर्तन संभव है. धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी. लंबी यात्रा पर जा सकते हैं.

तुला राशि:

tula

आर्थिक पक्ष से निराशा, दांपत्य जीवन में कटुता, जोखिम और निवेश से नुकसान का सामना हो सकता है. क्योंकि बुध 8वें भाव में संचरण कर रहा है. हर काम में सावधानी बरतें. धन हानि हो सकता है. इच्छा के विरुद्ध यात्रा पर जाना पड़ सकता है. संघर्ष के बाद अच्छे परिणाम मिलेंगे. जीवन साथी धन का संचय कर सकता है.

वृश्चिक राशि:

vrrishchik

पारिवारिक मनमुटाव हो सकता है. अकेलापन महसूस कर सकते हैं. आर्थिक लाभ में कमी हो सकती है. बुध आपके 7वें भाव में गोचर कर रहा है. नकारात्मक भाषा शैली ना अपनाएं. इससे विवाद हो सकता है. जीवन साथी के साथ संबंध कटु हो सकते हैं. किसी व्यक्ति के साथ आप प्रेम संबंध बना सकते हैं. व्यापार में समझारी बरतें, लाभ मिलने की प्रबल संभावना है. सेहत का ख्याल रखें.

धनु राशि:

dhanu

मनोकामनाएं पूर्ण होंगी, नवीन योजना में रुचि होगी और परोपकार की भावना जागृत होगी. बुध ग्रह आपकी राशि से छठे भाव में संचरण करेगा. जीवन साथी की सेहत में गिरावट आ सकता है. दोनों के बीच विवाद संभव है. खर्च बढ़ेगा. ऑफिस में प्रमोशन हो सकता है. सेहत का ख्याल रखें.

मकर राशि:

makar

काम में अवरोध, यात्रा से परेशानी, विचारों में उग्रता और कर्ज की चिंता बढ़ेगी. बुध आपकी राशि से 5वें भाव में गोचर करेगा. ज्ञान में वृद्धि होगी. उच्च शिक्षा के लिए दूसरे स्थान जा सकते हैं. बच्चों का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा. प्रेम जीवन में सुधार होगा.

कुंभ राशि:

kumbh

जनसंपर्क का भरपूर अवसर मिलेगा, नवीन उपलब्धि होगी, पुराने विवाद से निजात मिलने की संभावना बढ़ेगी. बुध ग्रह चौथे भाव में है. अचानक धन लाभ होगा. काम में सफलता प्राप्त होगी. लेकिन कड़ी मेहनत करनी होगी. वाहन सावधानीपूर्वक चलाएं. मां की सेहत का ख्याल रखें. बच्चों की सेहत में भी गिरावट आएगी. छात्रों के लिए समय ठीक नहीं.

मीन राशि:

mean

बुध ग्रह दूसरे भाव में होने से लक्ष्य के प्रति संकल्पबद्ध होंगे. संवाद शैली प्रखर होगी. आपके विचार दूसरों को प्रभावित करेंगे. आर्थिक लाभ का समय. आमदनी में वृद्धि होगी, लेकिन कड़ी मेहनत करनी होगी. जीवन साथी को बड़ा लाभ मिल सकता है. प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी. यात्रा का योग. भाई-बहन का सहयोग मिलेगा. सेहत का ध्यान रखें.