चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri 2019) में मां की पूजा विशेष विधि-विधान से की जाती है. इस दौरान मां खुश हो जाएं तो हर मनोकामना पूर्ण करती हैं.

Chaitra Navratri 2019 : दुर्गा सप्‍तशती के पाठ का है विशेष महत्‍व, ग्रह शांति के लिए पढ़ें ये मंत्र

नवरात्रि में माता का पूजन तो हम सभी के घरों में होता है पर क्‍या आप जानते हैं कि मां से प्रार्थना करने और उनका आह्वाहन करने की सही विधि क्‍या है?

ऐसे करें मां से प्रार्थना
नवरात्रि में सूर्य उदय से पहले उठना चाहिए. स्नान करें और साफ कपड़े पहनें. चूंकि मां को साफ-सफाई बेहद प्रिय है, इसलिए इस दौरान सफाई का विशेष ध्‍यान देना चाहिए.

मां की प्रतिमा या फोटो जहां आपने स्‍थापित की हो, उसके सामने बैठें. या खड़े भी रह सकते हैं. मां को रोली, मोली चढ़ाएं. घी का दीपक जलाएं. लाल फूल चढ़ाएं.
इस मंत्र का जाप करें-

सर्व मंगल मांगले शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्रियुम्बिके गौरी नारायणी नमोऽस्तुते।।

या देवी सर्व भुतेसू लक्ष्मी रूपेण संस्थिता |
नम: तस्ये नम: तस्ये नम: तस्ये नमो नम:||

Chaitra Navratri 2019: नवरात्रि के 9 दिन बन रहे नौ प्रबल योग, पूजा का मिलेगा दोगुना फल, इन कामों के लिए शुभ…

मां के सामने दुर्गा चालीसा पढ़ें. संभव हो तो दुर्गा सप्‍तशती पढ़ें. इसके बाद आरती करें.

अब मां से अपने दिल की बात कहें. उन्‍हें बताएं कि आप क्‍या चाहते हैं, किन बातों से परेशान हैं. बिल्‍कुल उसी तरह जैसे आप निर्भय होकर अपनी मां से दिल की बात कहते हैं.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.