चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri 2019) में मां की विशेष पूजा-अर्चना का विधान है. पर गृहस्‍थों को खास पूजन करना चाहिए. इस दौरान कुछ ऐसे नियम भी हैं जिनका पालन करना होता है.

Happy Chaitra Navratri: भेजें ये Messages, Quotes, Photos, GIFs

नवरात्रि में क्‍या करें गृहस्‍थ
गृहस्‍थ आश्रम को सृष्टि चलाने के लिए सबसे महत्‍वपूर्ण माना गया है. पर कई नियम ऐसे हैं जिसका पालन गृहस्‍थों को करने के लिए कहा गया है. ये नियम नवरात्रि के लिए हैं.
सबसे पहले ये जानें कि क्‍या करें. गृहस्‍थ आश्रम में रह रहे लोगों को नवरात्रि में समयानुसार (जितना समय मिले), मां दुर्गा की पूजा करनी चाहिए. सुबह-शाम पूजा करें, मां को भोग लगाएं. साफ-सफाई का अतिरिक्‍त ध्‍यान रखें. व्रत, उपवास करें. जमीन पर सोएं. भोग-विलास से दूर रहने का प्रयास करें. ब्रह्मचर्य का पालन करें.

ये नियम भंग ना हों
नवरात्रि का अर्थ है मन, वचन व कर्म से शुद्ध रहें. केवल घर में साफ-सफाई आवश्‍यक नहीं है बल्कि मन को भी शुद्ध रखें. किसी के लिए अपशब्‍दों का प्रयोग भी ना करें. जमीन पर सोएं. घर पर पवित्र तरीके से बनाया भोजन ग्रहण करें. माता की प्रतिदिन पूजा करें. शारीरिक संबंध ना स्‍थापित करें.

Chaitra Navratri 2019: कब से शुरू होंगी चैत्र नवरात्रि, कलश स्‍थापना का शुभ मुहूर्त…

Chaitra navratri Importance
ऐसी मान्‍यता है कि इन नौ दिनों के दौरान मां दुर्गा धरती पर ही रहती हैं. जहां भी उनका पूजन हो वहां वे जरूर जाती हैं. इसलिए इस दौरान विशेष नियमों का पालन कर मां का पूजन करने की बात कही जाती है. ऐसे में बिना सोचे-समझे भी यदि किसी शुभ कार्य की शुरुआत की जाए, तो उस पर मां की कृपा जरूर बरसती है और वह कार्य सफल होता है.

Chaitra Navratri 2019
चैत्र नवरात्रि इस बार 6 अप्रैल, शनिवार से आरंभ होंगी. इस बार पूरे 9 दिन का पर्व मनेगा.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.