चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri 2019) में मां की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है. इस दौरान लोग व्रत रखते हैं.

Chaitra Navratri 2019 : जानें मां दुर्गा से प्रार्थना करने की सही विधि, कैसे करें मां का पूजन

नवरात्रि में व्रत रखने की परंपरा सालों से चली आ रही है. मगर इन दिनों में व्रत रखने का क्‍या महत्‍व है? ये व्रत क्‍यों रखे जाते हैं और क्‍यों रखने चाहिए?

व्रत क्‍यों रखे जाते हैं?
नवरात्र में देवी पूजन किया जाता है. व्रत-उपवास भी इसी का अंग है. व्रत करने से शारीरिक, मानसिक और धार्मिक लाभ मिलते हैं. नवरात्र व्रत से शरीर स्वस्थ रहता है. मन में शांति भाव रहता है. इसके अलावा नवरात्र‍ि पर्व में व्रत रखना शरीर के लिए भी अच्‍छा होता है.
दरअसल, नवरात्रि पर्व ऋतु बदलने के समय में आते हैं. ऐसे समय में बीमार होने की संभावना काफी अधिक होती है. ऐसे में 9 दिन तक व्रत रखने से खानपान संयमित हो जाता है.

Chaitra Navratri 2019 : दुर्गा सप्‍तशती के पाठ का है विशेष महत्‍व, ग्रह शांति के लिए पढ़ें ये मंत्र

व्रत से लाभ
व्रत रखने से शरीर स्वस्थ रहता है. नवरात्रि में व्रत से पाचन तंत्र को आराम मिलता है. कब्ज, गैस, एसिडीटी, अपच आदि नहीं होता. इसके अलावा इस समय होने वाली बीमारियां जैसे बुखार आदि से राहत मिलती है. इसके अलावा व्रत रखने से मां की कृपा प्राप्‍त होती है. आध्यत्मिक शक्ति व ज्ञान बढ़ता है. विचार पवित्र रहते हैं.

Chaitra Navratri 2019
चैत्र नवरात्रि इस बार 6 अप्रैल, शनिवार से आरंभ होंगी. इस बार पूरे 9 दिन का पर्व मनेगा.

Navratri Kalash Stahpana Muhurat
चैत्र नवरात्रि में कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 6 अप्रैल को है. इस दिन रेवती नक्षत्र है. सुबह 06:09 बजे से 10:21 बजे तक कलश स्थापना का श्रेष्ठ मुहुर्त है.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.