Chaitra Navratri 2020/Gudi Padwa/Ugadi/Hindu New Year: चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का हिंदू धर्म में काफी महत्व है. इस दिन कई प्रमुख पर्व होते हैं. साथ ही नव वर्ष की शुरुआत भी होती है. Also Read - Navratri Puja 2020: शुभ मानी जाती हैं ये चीजें, अष्टमी- नवमी के दिन कन्याओं को करें भेंट

देश के अलग-अलग हिस्सों में इसे चैत्र नवरात्रि, गुड़ी पड़वा, उगदी आदि नामों से मनाया जाता है. Also Read - Navratri Super Healthy Drinks: नवारात्रि के दौरान अपने शरीर को इन ड्रिंक्स की मदद से रखें हेल्दी, बॉडी हमेशा रहेगी हाइड्रेट

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से नवसंवत्सर का आरंभ होता है. माना जाता है कि इसी तिथि से पितामह ब्रह्मा ने सृष्टि निर्माण प्रारंभ किया था. Also Read - Ram Navami 2020 Wishes In Hindi: राम नवमी पर हिंदी में भेजें ये शुभकामना संदेश

हिंदू नववर्ष का नाम

 

25 मार्च से हिंदू नववर्ष विक्रम संवत 2077 शुरू हो जाएगा. नव संवत 2077 का नाम होगा प्रमादी.

क्या करें साल के पहले दिन

 

– प्रातः नित्य कर्म कर तेल का उबटन लगाकर स्नान करें. नए वस्त्र धारण करें.
– घर को ध्वज, बंधनवार आदि से सजाएं.
– हाथ में गंध, अक्षत, पुष्प और जल लेकर भगवान गणेश का ध्यान करें. मां दुर्गा के मंत्र कहें.
– ‘ॐ ब्रह्मणे नमः’ मंत्र से ब्रह्माजी का पूजन करें.
– इस दिन सात्विक भोजन करें.
– इस दिन पचांग श्रवण किया जाता है. सामर्थ्य अनुसार पांचांग दान करने की भी परंपरा है.
– चूंकि इस दिन से चैत्र नवरात्रि का भी आरंभ होता है, इसलिए इस दिन मां दुर्गा के पूजन के लिए घट स्थापना कर उनका पूजन और व्रत रखने की पंरपरा है.

चैत्र नवरात्रि 2020

 

चैत्र नवरात्रि 2020 का प्रारंभ इसी सप्ताह 25 मार्च, बुधवार से हो रहा है. बुधवार को मां दुर्गा के पूजन का प्रथम दिन यानी पहला नवरात्र होगा. 25 मार्च को ही कलश स्थापना की जाएगी. इसके बाद अगले नौ दिन तक मां के विभिन्न रूपों का पूजन किया जाएगा. इस साल चैत्र नवरात्रि पर मां दुर्गा नौका पर सवार होकर आएंगी. मां का नौका पर आना बेहद शुभ माना जाता है. जब भी मां नौका पर सवार होकर आती हैं तो सर्वसिद्धि योग बनता है.