Chaitra Navratri 2020: चैत्र नवरात्रि से मां दुर्गा के पूजन का नौ दिन का उत्सव आरंभ होता है. ये नवरात्रि इसलिए भी खास है क्योंकि इसकी शुरुआत से हिंदू नव वर्ष की शुरुआत भी होती है. Also Read - Navratri 2020 Kanya Pujan: आज अष्टमी-नवमी, इस शुभ मुहूर्त पर करें कन्या पूजन, ये है पूजा की विधि

यही वजह है कि ना केवल मां दुर्गा के भक्‍तों बल्कि आम जनों के लिए भी इस चैत्र नवरात्रि का खास महत्व है. नवरात्रि के 9 दिनों में वे देवी के विभिन्‍न रूपों का पूजन किया जाता है. Also Read - Navratri 2020: शीघ्र विवाह और धन प्राप्ति के लिए माता दुर्गा की पान के पत्तों से करें पूजा, मनोकामनाएं होंगी पूरी

Chaitra navratri New Year Begins

  Also Read - Navratri 2020 Sandhi Puja: क्या होती है संधि पूजा? जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

ऐसी मान्‍यता है कि चैत्र नवरात्र‍ि के पहले दिन मां दुर्गा का जन्‍म हुआ था और मां दुर्गा के कहने पर ही ब्रह्मा जी ने सृष्‍ट‍ि का निर्माण किया था. इसीलिए चैत्र शुक्‍ल प्रतिपदा से हिन्‍दू वर्ष शुरू होता है.

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से चैत्र नवरात्र‍ि की शुरुआत होती है. नवरात्र‍ि में मां दुर्गा के नौ रूपों शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कूष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है.

Maa Durga Stay On Earth

 

ऐसी मान्‍यता है कि इन नौ दिनों के दौरान मां दुर्गा धरती पर ही रहती हैं. जहां भी उनका पूजन हो वहां वे जरूर जाती हैं. इसलिए इस दौरान विशेष नियमों का पालन कर मां का पूजन करने की बात कही जाती है. ऐसे में बिना सोचे-समझे भी यदि किसी शुभ कार्य की शुरुआत की जाए, तो उस पर मां की कृपा जरूर बरसती है और वह कार्य सफल होता है.

इस साल नवरात्रि 25 मार्च से आंरभ होगी. 2 अप्रैल को राम नवमी तक रहेगी.