साल 2020 वैसे तो किसी भी दृष्टी से अच्छा नहीं था और हर तरफ केवल तबाही और बीमारी का मंजर था. पूरी दुनिया इस वक्त भी कोरोना के ड़र में है हर देश इससे परेशान है. इस दौरान भारत में साल 2020 का आखिरी चंद्र ग्रहण इसी महीने के आखिरी दिन लगने वाला है. ये आखिर चंद्र ग्रहण 30 नवबंर को लेगा, इसी दिन कार्तिक पूर्णिमा भी है और सोमवार का दिन है. हालांकि ये चंद्र ग्रहण महज उपच्छाया मात्र होगा. Also Read - Chandra Grahan 2020 Horoscope: सभी राशियों पर होगा चंद्र ग्रहण का असर, इन्हें रहना होगा संभलकर

साल 2020 का आखिरी चंद्र ग्रहण कुछ खास प्रभावी नहीं होगा और एक तरह से ये केवल उपच्छाया की तरह होगा. हालांकि इस दौरान आपको कई तरह की सावधानियां बरतनी चाहिए खासकर अगर आप मां बनने वाली हैं. ये जो ग्रहण लगेगा उसका असर सौरमंड पर ज्यादा होगा. साल 2020 में पड़ने वाला ये चौथा चंद्र ग्रहण है, जानें चंद्र ग्रहण का सूतक काल, धार्मिक मान्यता, कहां दिखेगा और इसका प्रभाव. Also Read - Chandra Grahan 2020: आज चंद्र ग्रहण पर जरूर दान करें ये चीजें, मिलेगी सुख शांति

क्या होगा इसका असर
इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण वृषभ राशि और रोहिणी नक्षत्र में पड़ेगा. इसके साथ ही इस ग्रहण का असर थोड़ा बहुत सभी राशियों पर पड़ेगा. ऐसे में आप चाहें तो अपने पंडित से आप पर होने वाले प्रभाव के बारे में जान सकते हैं. इस बार का चंद्र ग्रहण मात्र उपच्छाया मात्र है, इसी वजह से इस ग्रहण का सूतक काल भी मान्य नहीं होगा. Also Read - Chandra Grahan 2020: आज लगने जा रहा है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, बरतें सावधानियां, जरूर करें ये काम

क्या है उपच्छाया चंद्र ग्रहण
30 नवबंर को 2020 का आखिर चंद्र ग्रहण पड़ रहा है, हालांकि ये चंद्र ग्रहण पूर्ण नहीं होगा यानी कि उपच्छाया मात्र होगा. ग्रहण से पहले चंद्रमा पृथ्वी की परछाई में प्रवेश करता है जिसे उपच्छाया कहते हैं. इस चंद्र ग्रहण में चंद्रमा के आकार में कोई फर्क नहीं आता है, इसमें चंद्रमा पर एक धुंधली सी छाया मात्र नजर आती है.

ग्रहण प्रारंभ – 30 नवंबर दोपहर 1 बजकर 4 मिनट
ग्रहण मध्यकाल – 30 नवंबर दोपहर 3 बजकर 13 मिनट
ग्रहण समाप्त – 30 नवंबर शाम 5 बजकर 22 मिनट

साल 2020 में कब-कब पड़े चंद्र ग्रहण
पहला चंद्र ग्रहण- 10 जनवरी
दूसरा चंद्र ग्रहण- 5 जून
तीसरा चंद्र ग्रहण- 5 जुलाई
चौथा चंद्र ग्रहण- 30 नवंबर को पड़ रहा है