नई दिल्ली: साल 2020 का आखिरी चंद्रग्रहण आज लगने जा रहा है. इस बार चंद्रग्रहण (Chandra Grahan 2020) कार्तिक पूर्णिमा के दिन पड़ रहा है . इस बार लगने वाला यह चंद्रग्रहण उपछाया होगा. हिन्दु धर्म में चन्द्रग्रहण एक धार्मिक घटना है जिसका धार्मिक दृष्टि से विशेष महत्व है. इस बार लगने वाला यह ग्रहण उपछाया चंद्रग्रहण है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, उपछाया चंद्र ग्रहण के कारण इस बार सूतक काल मान्य नहीं होगा.Also Read - Chandra Grahan 2020 Horoscope: सभी राशियों पर होगा चंद्र ग्रहण का असर, इन्हें रहना होगा संभलकर

ग्रहण के दौरान बरतें ये सावधानियां Also Read - Chandra Grahan 2020: आज चंद्र ग्रहण पर जरूर दान करें ये चीजें, मिलेगी सुख शांति

– ग्रहण में घर के मंदिरों के कपाट बंद कर देना चाहिए. ताकि भगवान पर ग्रहण का असर ना हो सके. Also Read - Chandra Grahan 2020: लगने जा रहा है साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें कहां दिखाई देगा और भारत पर क्या होगा इसका असर

– ग्रहण में स्त्री-पुरुष को शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए. ग्रहण के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से गर्भधारण में संतान पर बुरा असर पड़ता है.

– सूतक लगने पर और ग्रहण के दौरान सबसे ज्यादा नकारात्मक शक्तियां हावी रहती हैं. ग्रहण में कभी भी श्मशान घाट में नहीं जाना चाहिए.

– सूतक लगने पर किसी भी तरह का कोई भी शुभ कार्य करने से बचना चाहिए. ग्रहण में किया गया कोई भी शुभ कार्य सफल नहीं होता.

– ग्रहण के दौरान बाल और नाखून काटने से बचना चाहिए. इसके अलावा न तो कुछ खाना चाहिए और न ही खाना बनाना चाहिए.

ग्रहण के बाद करें ये काम

– चंद्रमा से संबंधित मंत्रों का जाप करना चाहिए.

– स्नान कर नए कपड़े पहनने चाहिए.

– घर में गंगाजल डालकर शुद्धि करना चाहिए.

– घर के पास मौजूद किसी मंदिर में पूजा कर दान करना चाहिए.