Chandra Grahan 27 July 2018: आज साल का दूसरा और सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण लग रहा है. इसे खग्रास चंद्रग्रहण कहा जा रहा है क्योंकि यह पूर्ण होगा और बेहद प्रभावशाली. ज्योतिषाचार्य पंडित विनोद मिश्र के अनुसार जो ग्रहण रात के समय और दोपहर लगता है, उसका प्रभाव भी ज्यादा होता है. इस खगोलीय घटना को पंडित बेहद महत्वपूर्ण मान रहे हैं. मान्यताओं की मानें तो इतने प्रभावशाली चंद्रग्रहण के दौरान कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए, जिससे कि इसे नकारात्मक प्रभावों से बचा जा सके.

Chandra Grahan 27 July 2018: इन 8 राशियों पर होगा चंद्रग्रहण का सबसे ज्यादा असर, जानें कितना बुरा हो सकता है

चंद्रग्रहण के दौरान ना करें ये काम:

पंडित विनोद मिश्र के अनुसार चंद्रग्रहण के दौरान भोजन नहीं करना चाहिए और ना ही भोजन पकाना चाहिए. इस दौरान तुलसी और भगवान की मूर्तियों को गलती से भी नहीं छूना चाहिए. यहां तक कि शौचालय भी नहीं जाना चाहिए. चंद्रग्रहण के दौरान सोना नहीं चाहिए. इसी कड़ी में ग्रहण के दौरान शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए.

Chandra Grahan: जानें कितने बजे लग रहा है चंद्रग्रहण, इस दौरान क्या करें और क्या नहीं

क्यों नहीं बनाना चाहिए ग्रहण में संबंध:

पंडित विनोद मिश्र के अनुसार चंद्रग्रहण के दौरान वायुमंडल में नकारात्मक ऊर्जा प्रभावी होती है. इस दौरान शारीरिक संबंध बनाने के बाद जो बच्चा जन्म लेता है, उसमें विकलांगता का खतरा रहता है. ऐसा भी हो सकता है कि बच्चा किसी मनोविकार से पीड़ित हो. ऐसे बच्चों पर असमाजिकता हावी हो सकती है. वह समाज के लिए खतरा भी हो सकते हैं. यह भी पढ़ें: फिर आया चंद्रग्रहण के दिन भूकंप, जानिए क्या है कनेक्शन!

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.