Chandra Grahan 2018: आषाढ़ मास के पूर्णिमा के दिन इस बार चंद्रग्रहण लग रहा है. आज यानी 27 जुलाई 2018 को चंद्रग्रहण रात 11:54 बजे लगेगा और अगले दिन सुबह 3:49 बजे तक रहेगा. पूर्ण चंद्रग्रहण करीब 1 घंटे 48 मिनट तक रहेगा. हालांकि चंद्रग्रहण का पूरा समय करीब 4 घंटे से ज्यादा रहेगा. बात दें कि इस साल 5 ग्रहण लगेंगे. इसमें 3 सूर्य ग्रहण और दो चंद्रग्रहण हैं. आज इस साल का दूसरा चंद्रग्रहण है. इससे पहले 31 जनवरी को इस साल का पहला चंद्रग्रहण लग चुका है.

चंद्रग्रहण को लेकर जहां कुछ धार्मिक मान्यताएं हैं वहीं विज्ञान कुछ और कहता है. चंद्रग्रहण को लेकर ज्यादातर लोगों को मन में डर रहता है. क्या करें और क्या नहीं इस बारे में हम आपको यहां बता रहे हैं.

Chandra Grahan 2018: चंद्र ग्रहण आज, बन रहे हैं 5 महासंयोग, जरूर पढ़ें

chandra-grahan

क्या करें और क्या नहीं:

1. चंद्रग्रहण सूर्यग्रहण से बिल्कुल अलग होता है. इसलिए इसे आप खुली आंखों से देख सकते हैं. इसे देखने के लिए चश्मा पहनने की जरूरत नहीं है. यहां तक कि इसे देखने के लिए आपको किसी भी प्रकार के चश्मे की जरूरत नहीं है. इससे आंखों को कोई नुकसान नहीं है.

Lunar Eclipse July 2018: चंद्रग्रहण 27 को, जानें भारत में किस समय और कहां दिखेगा पूर्ण ग्रहण

2. ज्योतिषार्यों की मानें तो इस दौरान कुछ भी खाना-पीना नहीं चाहिए. अगर कोई बच्चा बुजर्ग या बीमार व्यक्ति है तो उसके लिए ये नियम लागू नहीं होते.

3. ज्योतिष यह भी मानते हैं कि ग्रहण को खुले आकाश के नीचे जाकर नहीं देखना चाहिए. क्योंकि इसका प्रभाव नकारात्मक होता है. खासतौर से प्रेग्नेंट महिलाओं को इस दौरान घर के बाहर नहीं आना चाहिए. ऐसी मान्यता है कि इसका बच्चे और मां दोनों प्रभावित होते हैं.

4. ज्योतिष यह भी मानते हैं कि ग्रहण के दौरान भगवान की मूर्ति या फोटो को स्पर्श नहीं करना चाहिए.

5. सूतक के दौरान सिलाई कढ़ाई का काम नहीं करना चहिए.

यह भी पढ़ें: Lunar Eclipse 2018: आ रहा है 21वीं सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण, 4 राशियों वाले रहें बचकर

6. सूतक में भोजन भी ना करें.

7. चंद्रग्रहण के दौरान शौचालय नहीं जाना चाहिए.

8. ग्रहण में मंत्रों का जप करें. अगर कुंडली में चंद्रमा कमजोर है तो ऊं चंद्राय नम: का जप करें.

9. ग्रहण के दौरान तुलसी की पत्ती नहीं तोड़नी चाहिए. सूतक के दौरान भी तुलसी की पत्ती को ना तोड़ें. दूध और दही में तुलसी के पत्ते जरूर डाल दें.

10. अगर आप तीर्थ स्थान पर है तो वहीं स्नान कर, मंत्रों का जप करें.

11. ग्रहण के बाद हवन करें और पूरे घर का गंगाजल से छिड़काव करें.

सावन और धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.