Chaturmas 2021 Date: हिंदू धर्म में चातुर्मास के आरंभ के साथ ही शुभ कार्यों पर रोक लग जाती है. हर वर्ष चतुर्मास, आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष एकादशी से शुरू होते हैं और कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष एकादशी तिथि तक रहते हैं.

चातुर्मास 2021
इस साल चातुर्मास का आरंभ 20 जुलाई 2021 से हो रहा है. जो 14 नवंबर 2021 तक चलेंगे.

देवताओं से जुड़ी मान्यता
ऐसी मान्यता है कि इन चार माह के समय में भगवान विष्णु शयन करते हैं. जिस दिन से चातुर्मास का आरंभ होता है उस दिन देवशयनी एकादशी होती है. जिस दिन चातुर्मास का समापन होता है उस दिन देवउठनी एकादशी होती है. इन चार महीनों में मांगलिक कार्य नहीं किए जाते.

क्यों रुकते हैं मांगलिक कार्य
हिंदू धर्म में भगवान विष्णु को पालनहार कहा गया है. चूंकि इस समय में श्रीहरि शयन करते हैं इसलिए मांगलिक कार्य जैसे- विवाह, मुंडन, जनेऊ आदि नहीं किया जाता. मांगलिक कार्यों में भगवान विष्णु का आह्वान किया जाता है, पर शयन में होने के कारण वे उपस्थित नहीं हो पाते, यही कारण है कि मांगलिक कार्यों पर रोक होती है.

चतुर्मास में कौन से चार माह आते हैं
चतुर्मास का पहला महीना सावन होता है. दूसरा माह भाद्रपद होता है. चतुर्मास का तीसरा महीना अश्विन होता है. चौथा और आखिरी महीना कार्तिक होता है. चतुर्मास में कई त्योहार मनाए जाते हैं. इनमें गणेश चतुर्थी, कृष्ण जन्माष्टमी, नवरात्रि, दशहरा, दिवाली मुख्य हैं.