नई दिल्ली: आज 21 नवंबर को छठ पूजा का समापन है. कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को छठ पूजा का समापन होता है. आज के दिन व्रती लोग सूर्य को अर्घ्य देते हैं. बता दें कि छठ पूजा 4 दिन तक चलती हैं. इसकी शुरुआत नहाय- खाए से होती है. दूसरा दिन खरना, तीसरा दिन डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य देने का, और चौथे और अंतिम दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है.  अर्घ्य देने के बाद छठ का व्रत रखने वाली महिलाएं सात बार परिक्रमा करती हैं और अंत में प्रसाद खाकर व्रत का पारण करती हैं. Also Read - Chhath Puja 2020: उदीयमान सूर्य को अर्घ्यदान के साथ ही संपन्न हुआ चार दिनों का महापर्व छठ, ऐसा दिखा नजारा

छठ पूजा का पारण मुहूर्त
सप्तमी तिथि – 21 नवंबर 2020
सूर्योदय सुबह – 06:49 बजे
सूर्यास्त शाम – 05:25 बजे Also Read - Chhath puja 2020: कोरोना पर आस्था भारी, छठव्रतियों ने कहा-छठी मैया होऊ ना सहाय...

इस विधि से दें सूर्य को अर्घ्य Also Read - Chhath Puja 2020 Recipe: आज के छठ पूजा का तीसरा दिन इस दिन घर पर बनाएं चावल लड्डू , जानें इसकी रेसिपी

सूर्य को अर्घ्य देने के लिए तांबे के लोटे में जल, लाल चन्दन, चावल, लाल फूल और कुश डालकर प्रसन्न मन से सूर्य की ओर मुख करके कलश को छाती के बीचों-बीच लाकर सूर्य मंत्र का जप करते हुए जल की धारा धीरे-धीरे प्रवाहित कर भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर पुष्पांजलि अर्पित करना चाहिए. इस दौरान अपनी दृष्टि को कलश की धारा वाले किनारे पर रखेंगे तो सूर्य का प्रतिबिम्ब एक छोटे बिंदु के रूप में दिखाई देगा, एवं एकाग्रमन से देखने पर सप्तरंगों का वलय नजर आएगा.