नई दिल्ली: 20 जुलाई को सोमवती अमावस्या के मेले के मद्देनजर उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में स्नान की प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है. उत्तराखंड की इस धार्मिक नगरी में 20 अप्रैल को सोमवती और हरियाली अमावस्या के मौके पर श्रद्धालु घाटों पर न तो स्नान कर सकेंगे और न ही डुबकी लगा सकेंगे. कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हरिद्वार जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं. Also Read - मां ने डांटा तो 11 साल के बच्चे ने छोड़ा घर, साइकिल लेकर हरिद्वार को निकला, फिर...

डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार का कहना है कि कोविड-19 के चलते फिलहाल गंगा स्नान की अनुमति नहीं दी जा रही है. उनका कहना है कि नॉर्थ इंडिया से हर साल सोमवती अमावस्या के दिन तकरीबन 50 लाख श्रद्धालु आते थे लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से फिलहाल गंगा स्नान की अनुमति नहीं दी जा रही है. Also Read - Har Ki Pauri Me Bijli Giri: हर की पौड़ी में गिरी बिजली, 80 फुट लंबी दीवार ढही

इसके अलावा पुलिस प्रशासन को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. अशोक कुमार ने लोगों से अपील की है कि वे गंगा स्नान के लिए ना आएं. वहीं अधिकारियों को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. Also Read - भक्ति पर कोरोना की पाबंदी: कोविड19 के चलते सीएम रावत की श्रद्धालुओं से अपील- सोमवती अमावस्या पर हरिद्वार न आएं