नई दिल्ली: देश में आज से अधिकतर धर्मस्थल नियम व शर्तों के साथ खोल दिए गए हैं. वहीं, श्रद्धालु बद्रीनाथ धाम की यात्रा अभी नहीं कर पाएंगे. बद्रीनाथ धाम 30 जून तक के लिए बंद रखा गया है. जिला प्रशासन और देवस्थानम बोर्ड के साथ तीर्थ पुरोहितों की बैठक में यह फैसला हुआ है. Also Read - Lockdown in Patna: 10 जुलाई से पटना में एक हफ्ते के लिए सख्त लॉकडाउन, ये सब रहेगा बंद

बता दें कि उत्तराखंड सरकार बद्रीनाथ धाम को आम श्रद्धालुओं के लिए खोलना चाहती थी, ताकि क्षेत्र की अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर आ सके, लेकिन तीर्थ पुरोहितों के विरोध के चलते सरकार ने यह फैसला जिलाधिकारियों पर छोड़ दिया था. आज जिलाधिकारी की तमाम संगठनों से बातचीत के बाद तय हुआ कि बद्रीनाथ धाम के कपाट 30 जून तक आम भक्तों के लिए नहीं खोले जाएंगे. Also Read - वैक्सीन न बनी तो भारत में आएगी तबाही, 2021 की सर्दियों में हर दिन आएंगे कोरोना के 2. 87 लाख केस, रिसर्च में दावा

उत्तराखंड सरकार ने जारी की गाइडलाइन
बद्रीनाथ केदारनाथ धाम को खोले जाने का फैसला संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों के ऊपर छोड़ दिया गया है. मॉल, होटल और धार्मिक स्थलों को खोले जाने के लिए राज्य सरकार ने गाइडलाइन जारी की है. सुबह 7:00 बजे से शाम 7:00 बजे तक धार्मिक स्थलों को तय मानकों के अनुसार खोलने को हरी झंडी दी गई है, लेकिन देहरादून नगर निगम क्षेत्र में कोई भी धार्मिक स्थल अभी खोला नहीं जाएगा. चार धाम यात्रा को लेकर संबंधित जिला अधिकारियों को फैसला लेने का अधिकार दिया गया है. बाहर से आने वाले यात्रियों और पर्यटकों के लिए विशेष तौर पर निर्देश जारी किए गए हैं. Also Read - बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या 12 हज़ार से पार, अब तक 98 मौतें, इन जिलों का बुरा है हाल