Diwali के मौके पर लोग भगवान गणेश-मां लक्ष्‍मी का पूजन करते हैं. इस दिन मां लक्ष्‍मी धरती पर आती हैं और विधि-विधान से पूजन करने वाले को मनचाहा वरदान देती हैं.

इस दिन लक्ष्‍मी पूजन से घर में कभी पैसों की तंगी नहीं रहती. शुभ मुहूर्त और पूजन विधि के अनुसार पूजन करना आवश्‍यक है.

Diwali 2019 Laxmi Pujan Shubh Muhurat
दिवाली पर लक्ष्‍मी पूजन का प्रदोष काल शुभ मुहूर्त रात 7:15 बजे से 8:36 बजे तक का है. यानी पूजा का शुभ मुहूर्त केवल 1 घंटे 20 मिनट का ही होगा.

दिवाली संपूर्ण पांचांग
प्रदोष काल: शाम 6:04 बजे से रात 8:36 बजे तक.
वृषभ काल: रात 7:15 बजे से 9:15 बजे तक.

Diwali 2019 Gift Ideas: दिवाली के लिए खरीदें ये ईको-बजट फ्रेंडली गिफ्ट…

चौघड़िया पूजा मुहूर्त
मुहूर्त (शुभ) – दोपहर 1:48 बजे से दोपहर 3:13 बजे तक.
मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) – शाम 6:04 बजे से रात 10:48 बजे तक.

कैसे करें पूजन
– श्री गणेश का पूजन करें. भगवान गणेश को स्नान कराएं. वस्त्र अर्पित करें. गंध, पुष, अक्षत अर्पित करें.
– देवी लक्ष्मी का पूजन शुरू करें.
– मां लक्ष्मी की चांदी, पारद या स्फटिक की प्रतिमा का पूजन करने से भी उत्तम फल की प्राप्ति होती है. जिस मूर्ति में माता लक्ष्मी की पूजा करनी है उसे मंदिर में स्‍थापित करें.
– मां लक्ष्‍मी को अपने घर आमंत्रित करें.
– माता लक्ष्मी की मूर्ति को स्नान कराएं. स्नान पहले जल से फिर पंचामृत से और दोबारा जल से स्नान कराएं.

Diwali 2019: दिवाली पर करें ये 10 टोटके, पूरे साल धन वर्षा करेंगी मां लक्ष्‍मी…

– मां लक्ष्मी को वस्त्र अर्पित करें. वस्त्रों के बाद आभूषण पहनाएं. अब पुष्पमाला पहनाएं. सुगंधित इत्र अर्पित करें.
– कुमकुम से तिलक करें. धूप व दीप अर्पित करें. माता लक्ष्मी को गुलाब के फूल विशेष प्रिय हैं.
– बिल्वपत्र और बिल्व फल अर्पित करने से भी महालक्ष्मी की प्रसन्नता होती है.
– 11 या 21 चावल अर्पित करें. श्रद्धानुसार घी या तेल का दीपक लगाएं. देवी लक्ष्मी की पूजा के ल‌िए दीपक की बाती का रंग लाल होना चाहिए. दीपक को दाईं ओर रखें. दीपक बाईं ओर नहीं रखना चाह‌िए.
– मां लक्ष्‍मी की आरती करें. आरती के पश्चात परिक्रमा करें.
– अब नेवैद्य अर्पित करें. महालक्ष्मी पूजन के दौरन ‘ऊँ महालक्ष्मयै नमः’ इस मंत्र का जप करते रहें.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.