Durga Pooja 2019: दुर्गा पूजा के दौरान मां दुर्गा की पूजा की जाती है. लोग दुर्गा पांडालों में जाकर देवी दुर्गा की आराधना करते हैं.

हर साल दुर्गा पूजा पर मां दुर्गा की भव्‍य प्रतिमाएं बनाई जाती हैं. कई प्रतिमाएं ऐसी होती हैं, जिनकी चर्चा पूरे देश में होती है. इस बार ऐसी ही प्रतिमा के बारे में अभी से बात हो रही है.

ऐसी प्रतिमा बन रही है मध्य कोलकाता के एक पंडाल में. मां दुर्गा की इस प्रतिमा को सोने से तैयार किया जा रहा है. इसे बनाने में 20 करोड़ रुपये की लागत आ रही है.

बताया जा रहा है कि मां की इस प्रतिमा को 50 किलोग्राम सोने से तैयार किया जा रहा है. 13 फीट लंबी यह प्रतिमा संतोष मित्र स्क्वॉयर की है, जिसे पहले लेबुतला के नाम से जाना जाता था. ये सियालदह रेलवे स्टेशन से 700 मीटर की दूरी पर स्थित है. आयोजकों का मानना है कि चार अक्टूबर से शुरू हो रही दुनिया के इस सबसे बड़े पांच-दिवसीय महोत्सव के दौरान यह लोगों को जरूर पसंद आएगी.

Shardiya Navratri 2019: नवरात्रि पूजन के लिए जरूरी है ये सामग्री, देखें पूरी List

समिति के अध्यक्ष प्रदीप घोष ने कहा, “अतीत में किसी ने भी शुद्ध सोने में देवी के रूप की कल्पना नहीं की थी. यह हमारी कनक (सोना) दुर्गा है, जो ऊपर से नीचे तक 50 किलोग्राम की कीमती पीली धातु से बनी है.”

अभी मार्केट में दस ग्राम सोने की कीमत 40,000 रुपये के करीब है और इस दुर्गा प्रतिमा की कीमत लगभग 20 करोड़ रुपये होगी.

हालांकि ऐसा नहीं है कि आयोजकों ने खुद इसे अपने पैसों से बनाया है. इसे तैयार करने के लिए एक या एक से अधिक ज्वैलर्स ने सोना मुहैया कराया है, जो विसर्जन के बाद अपने-अपने हिस्से का सोना वापस ले लेंगे.

समिति के सेक्रेटरी सजल घोष ने कहा, “हमने एक बड़ी संख्या में मल्टी-नेशनल कॉर्पोरेट्स से भी संपर्क किया है जिन्होंने मूर्ति के लिए फंड उपलब्ध कराया है और महोत्सव के लिए और भी कई खर्च वहन किए हैं.”

यहां केवल दुर्गा मां की प्रतिमा को ही सोने से तैयार किया गया है जबकि गणेश, कार्तिक, लक्ष्मी और सरस्वती की प्रतिमा को बनाने के लिए इस धातु का उपयोग नहीं किया गया है.

हालांकि संतोष मित्र पूजा आयोजकों के लिए यह कोई नई बात नहीं है. वे ऐसा पहली बार नहीं कर रहे हैं बल्कि साल 2017 में भी उन्होंने मां दुर्गा की प्रतिमा को सोने की साड़ी पहनाई थी. पिछले साल मां चांदी के रथ पर सवार थीं.

(एजेंसी से इनपुट)

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.