Durga Pooja 2020: देश में हर साल हर्षोल्लास से दुर्गा पूजा का पर्व मनाया जाता है. लोग मां दुर्गा की प्रतिमाएं खरीदते हैं और उनका पूजन करते हैं. Also Read - Durga Pooja 2020 In Kolkata: कोलकाता में दुर्गा पूजा का महाउत्सव शुरू, पर खाली पड़े पांडाल, लोग ऑनलाइन देख रहे पूजा...

हर साल की तरह इस साल भी कोलकाता में मां दुर्गा की प्रतिमाएं बन रही हैं. कुम्हार बिरादरी के लोगों के लिए चर्चित जगह कुमारटुली में सालों से महालया के दिन देवी दुर्गा की आंखें बनाई जाती हैं, जिसे ‘चक्षुदान’ के नाम से जाना जाता है. यह प्रतिमा निर्माण की प्रक्रिया का आखिरी चरण होता है. Also Read - Happy Durga Pooja 2020 Wishes: दुर्गा पूजा का आरंभ, भेजें ये SMS, Whatsapp Messages

कुमारटुली नामक उत्तरी कोलकाता के इस इलाके में महालया के दिन हलचल का माहौल रहता है, लोगों की भारी भीड़ रहती है. पूजा के लिए लोग अपनी पसंद से प्रतिमाएं खरीदकर ले जाते हैं, लेकिन इस बार सबकुछ काफी फीका जा रहा है. यहां ऐसी दर्जनों प्रतिमाएं देखने को मिलीं, जिन पर काम अधूरा है. कुछ तो अभी तक बांस का ढांचा ही बनाकर छोड़े हुए हैं. Also Read - ममता बनर्जी ने पूजा पंडालों को दिए 50-50 हज़ार रुपए, नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने कहा- ये सही कदम

हर साल दुर्गा पूजा के अवसर पर तमाम पूजा कमेटियों की ओर से प्रतिमाओं के निर्माण के लिए यहां के कारीगरों को ऑर्डर मिलते हैं, लेकिन इस बार कोरोनावायरस महामारी के भंयकर मार के चलते सदियों से चली आ रही एक पुरानी परंपरा जैसी थम सी गई है.

कारीगरों का कहना है कि बुकिंग और एडवांस पेमेंट के बिना वे समय पर मूर्ति बनाने का काम कैसे निपटा सकेंगे.

ऐसी ही एक कारीगर चाइना पाल ने बताया, “इस साल महालया के अवसर पर चक्षुदान की परंपरा का पालन नहीं किया जा सका, क्योंकि ज्यादातर प्रतिमाएं अभी तक बनी ही नहीं हैं. कई पूजा आयोजकों ने प्रतिमाओं की बुकिंग नहीं की है, पैसे नहीं मिले हैं.”

कुमारटुली से जुड़े सूत्रों ने बताया कि अब तक केवल उन्हीं प्रतिमाओं पर काम पूरा कर लिया गया है, जिन्हें या तो देश के किसी अन्य हिस्से में भेजा जाना है या जो फाइबर की बनी हुई है. बाकियों पर काम होना बाकी है.

इस बार आयोजकों की तरफ से पूजा के बजट को सीमित रखा गया है, ऐसे में कुमारटुली के कारीगरों को भी मूर्तियों की कीमत, इनके आकार और वजन सारी चीजें तोलमोल कर करनी पड़ रही है.
(एजेंसी से इनपुट)