नई दिल्ली: 25 अक्टूबर को भारत में विजय दशमी का त्योहार मनाया जाएगा. यह दिन अधक्म पर धर्म की जीत, बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक होता है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी को दशहरा का पर्व मनाया जाता है. इस दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था साथ ही इस दिन भगवान राम ने भी लंकापति रावण का वध किया था. दशहरा हिंदूओं की मुख्य त्योहार है. ऐसे में दशहरे में का कार्यों को करने की परंपरा भी हैं. आइए जानते हैं इन कार्यों के बारे में- Also Read - RSS प्रमुख के चीन को लेकर दिये बयान पर आया राहुल गांधी का रिएक्शन, कहा- 'भागवत सच जानते हैं लेकिन...' 

पान का सेवन- दशहरा के दिन हनुमानजी को मीठी बूंदी का भोग लगाएं और उसके बाद उन्हें पान चढ़ाएं. इस दिन रावण दहन के बाद पान का बीड़ा खाया जाता है. यह भक्तों द्वारा सत्य की जीत की खुशी को दर्शाता है. Also Read - 'शस्त्र पूजा' के बाद चीन को राजनाथ सिंह का सख्त संदेश- 'सीमा पर चाहते हैं शांति लेकिन एक इंच भी जमीन...'

नील कंठ के दर्शन- नीलकंठ पक्षी को भगवान शिव का प्रतिनिधि माना जाता है. माना जाता है कि रावण पर विजय पाने की कामना से प्रभु श्री राम ने सबसे पहले नीलकंठ पक्षी के दर्शन किए थे. दशहरे के दिन नीलकंठ पक्षी के दर्शन करने से घर में सुख-समृद्धि आती है. Also Read - Mohan Bhagwat Dussehra Speech 2020: दशहरे पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की शस्त्र पूजा, कहा - भारत की प्रतिक्रिया से सहम गया चीन

फिटकरी- दशहरे के दिन आप एक फिटकरी का टुकड़ा लें और उसको सभी घर वाले से छुआ लें. फिर इसको घर की छत पर ले जाएं और आपको जहां फेकना हो उसके उल्टे तरफ खड़े हो जाएं. फिर अपने ईष्टदेव का ध्यान करते हुए फेंक दें. ऐसा करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा खत्म हो जाती है.

बेसन के लड्डू- पैसे कमाना चाहते हैं तो दशहरे के दिन से 43 दिनों तक किसी कुत्ते को हर रोज बेसन के लड्डू खिलाएं. ऐसा करने से पैसों की समस्या खत्म हो जाती है.

यात्रा करें- दशहरे के दिन धार्मिक यात्रा करना काफी शुभ माना जाता है. कहा जाता है कि विदेश जाने के इच्छुक लोग अगर इस दिन यात्रा करते हैं तो उन्हें शुभ फल की प्राप्ति होती है.