Dussehra 2021: हिंदू पंचांग (Vijya Dashmi 2021) के अनुसार अश्विन मास के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि को दशहरा यानि विजयदशमी का पर्व मनाया जाता है. इस बार यह पर्व 15 अक्टूबर ​शुक्रवार के दिन मनाया जाएगा. यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक है और मान्यता है कि इस दिन भगवान श्री राम (Dussehra ke Upay) ने अत्याचारी रावण का वध कर विजय हासिल की थी. विजयदशमी के दिन ही मां दुर्गा को प्रतिमा का भी विसर्जन किया जाता है. इस बार दशहरा (Dussehra ki puja vidhi) पर तीन विशिष्ट प्रकार के संयोग बन रहे हैं.Also Read - Dussehra 2021: दिल्ली, लखनऊ, अयोध्या में कितने बजे होगा रावण दहन, जानें अपने शहर की टाइमिंग

Dussehra 2021: शुभ मुहुर्त
हिंदू पंचांग के अनुसार दशमी तिथि 14 अक्टूबर को शाम 6 बजकर 52 मिनट पर शुरू होगी और 15 अक्टूबर को सूर्यास्त तक रहेगी. इस बार दशमी तिथि को तीन विशिष्ट संयोंग बन रहे हैं. (Dussehra 2021 Shubh Muhurat) बता दें कि इस बार दशहरा पर श्रवण नक्षण में सर्वार्थसिद्धि योग, अभिभीज मुहूर्त और विजयी मुहूर्त का संयोग बन रहा है. इन संयोग को बेहद ही खास और लाभदायक माना जाता है. Also Read - Dussehra 2021 Ravan Dahan Ke Upay: आज रात रावण दहन की राख से कर लें ये उपाय, रातोंरात बदल जाएगी आपकी जिंदगी

Dussehra 2021: पूजा करने से मिलेंगे कई लाभ
मान्यता है कि एक साथ वण नक्षण में सर्वार्थसिद्धि योग, अभिभीज मुहूर्त और विजयी मुहूर्त का संयोंग बेहद ही खास होता है. इस मुहूर्त में दशहरा की पूजा करना बेहद ही उत्तम माना जाता है और मुहुर्त में पूजा करने से कई लाभ होते हैं. दशहरा के दिना अस्त्र—शस्त्र की पूजा करने की मान्यता है और कहा जाता है कि दशहरा पर अस्त्र-शस्त्र की पूजा करने शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है. इस दिन विधि—विधान से पूजा करने पर मां आदिशक्ति प्रसन्न होकर अपने भक्तों पर कृपा बरसाती हैं. यह भी कहा जाता है कि दशहरा की पूजा करने से जीवन में आने वाली सभी परेशानियां दूर हो जाती है और कष्टों से मुक्ति मिलती है. इसके अलावा मां आदिशक्ति की कृपा से दुख और दरिद्रता का विनाश होता है. Also Read - Aaj Ka Panchang, 15 October, Dussehra 2021: दशहरा आज, जानें विजय दशमी की पूजा का शुभ समय, पंचांग में पढ़ें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त