Eid al-Fitr 2019: रमजान का चांद दिखने के साथ ही पूरी दुनिया में ईद का त्योहार मनाया जाएगा. ईद एक ऐसा त्योहार है, जिसे न सिर्फ मुसलमान, बल्कि हर धर्म के लोग प्यार और भाईचारे के साथ मनाते हैं. अल्लाह-तआला से बरकत की दुआ पाने का यह अनोखा मौका होता है. इसलिए ईद के मौके को सद्भाव और भाईचारे का संदेश देने वाला त्योहार भी कहा जाता है. दुनिया के इस्लामिक देशों के अलावा भारत में भी ईद का त्योहार हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है. ईद के इसी मौके को खास बनाने के लिए हम आपके लिए लाए हैं कुछ शुभकामना संदेश, जिसे आप अपने रिश्तेदारों या परिचितों को भेजकर उन्हें ईद की मुबारकवाद दे सकते हैं.

ईद की नमाज पढ़ने के बाद लोग अल्लाह से माफी, रहम, शांति की दुआ मांगते हैं. इसके बाद रिश्तेदारों और दोस्तों के घर जाकर उन्हें मुबारकबाद देते हैं. ईद के त्योहार के अवसर पर घर में बनने वाली सेवइयां और मीठे पकवान, ईद के मुकद्दस मौके को और भी शानदार बना देती है. वहीं लोग एक-दूसरे को बधाइयां देकर त्योहार की खुशी बांटते हैं. हर उम्र के लोग ईद के दिन नए कपड़े पहनकर एक-दूसरे के यहां जाते हैं और सबको ईद की बधाई देते हैं.

इस्लाम धर्म के जानकारों के अनुसार ईद का त्योहार नया चांद दिखने के अगले दिन शुरू होने वाले शव्वाल के महीने के पहले दिन मनाया जाता है. ईद उल फितर या ईद के दिन नमाज पढ़ने से पहले फितरा देने की भी परंपरा है. फितरा को मुसलमानों के लिए फर्ज माना जाता है. फितरा दरअसल, अनाज का दान होता है, जो जरूरतमंद लोगों को दिया जाता है. इस खास तरह के दान का मकसद यह है कि गरीब तबका भी ईद के त्योहार की खुशी उसी तरह मना सके, जिस तरह बाकी लोग यह त्योहार सेलिब्रेट करते हैं.

मुस्लिम समुदाय के घरों में ईद के दिन बिरयानी, हलीम, नल्ली निहारी, सेवइय्या, मटन कलेजी और कई तरह के कबाब बनाए जाते हैं. ये परंपरागत पकवान और व्यंजन ईद के त्योहार की खुशी कई गुना बढ़ा देते हैं. महिलाएं इस दिन अपनी पसंद के नए कपड़े पहनती हैं. पुरुष आमतौर पर कुर्ता-पैजामा पहने हुए नजर आते हैं.