February 2021 Vrat Tyohar List In Hindi: फरवरी का महीना शुरू होने में कुछ ही दिन बचे हैं. हिंदू पंचांग के मुताबिक, फरवरी के महीने में कई बड़े और महत्वपूर्ण त्योहार और व्रत मनाए जाएंगे. इस महीने में मौनी अमावस्या, भौम प्रदोष व्रत, कुंभ संक्रांति, जया एकादशी आदि व्रत त्योहार मनाए जाएंगे. इन व्रत-त्‍योहारों की पूरी लिस्‍ट हम यहां दे रहे हैं. इसे आप अपने पास सुरक्षित रख सकते हैं. Also Read - US President Donald Trump India visit: भारत दौरे पर आ सकते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

07 फरवरी: षटतिला एकादशी- षटतिला एकादशी माघ मास के कृष्‍ण पक्ष की एकादशी को कहा जाता है. इस दिन तिल का प्रयोग 6 प्रकार से करने पर पापों का नाश होता है . Also Read - ऑस्ट्रेलियाई टीम वनडे-टी20 खेलने आयेगी भारत, BCCI ने घोषित किया शेड्यूल

09 फरवरी: भौम प्रदोष व्रत- इस दिन शिवजी और माता पार्वती की पूजा की जाती है. जिस समय यह प्रदोष व्रत सोमवार को पड़ता है तब उसे सोम प्रदोष कहा जाता है. Also Read - Annual wholesale price inflation slowed in February 2018 | फरवरी में महंगाई से रही थोड़ी राहत, जनवरी के मुकाबले ऐसा रहा पिछला माह

10 फरवरी: मासिक शिवरात्रि- हिन्दू धर्म में मासिक शिवरात्रि का बहुत महत्व माना जाता है. इस पावन दिन पर व्रत रखकर भगवान शिव (Lord Shiva) की उपासना की जाती है.

11 फरवरी: मौनी अमावस्या- माघ के महीने में आने वाली अमावस्या को मौनी अमावस्या या माघ अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है. मान्यताओं के अनुसार इस दिन पवित्र संगम में देवताओं का निवास होता है इसलिए इस दिन गंगा स्नान का विशेष महत्व है.

12 फरवरी: माघ गुप्त नवरात्रि प्रारंभ, कुंभ संक्रांति- हिंदू पंचांग के अनुसार कुम्भ संक्रांति ग्यारहवें महीने की शुरुआत है. यह दिन काफी शुभ होता है. कुम्भ संक्रांति हिंदुओं के लिए बहुत ही खास दिन होता है. इस दिन देवताओं का पवित्र नदियों गंगा, यमुना, सरस्वती, गोदावरी, शिप्रा इत्यादि में वास होता है.

15 फरवरी: गणेश जयंती, विनायक चतुर्थी- विनायक चतुर्थी पर विघ्नविनाशक भगवान श्री गणेश का पूजन किया जाता है. भगवान गणेश की कृपा प्राप्त करने के लिए यह तिथि बहुत महत्वपूर्ण होती है.

16 फरवरी: वसंत पंचमी- वसंत पञ्चमी या श्रीपंचमी एक हिन्दू का त्योहार है. इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है. यह पूजा पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े उल्लास से मनायी जाती है. इस दिन पीले वस्त्र धारण करते हैं.

19 फरवरी: अचला सप्तमी, शिवाजी जयंती- माघ माह की शुक्ल पक्ष की सप्तमी को सूर्य सप्तमी, अचला सप्तमी, रथ आरोग्य सप्तमी इत्यादि नामों से जानी जाती है.

20 फरवरी: भीष्म अष्टमी- भीष्म अष्टमी का पर्व महाभारत के महान पात्र भीष्म पितामह को समर्पित है. यह दिन बेहद ही भाग्यशाली होता है, इसलिए लोग आज के दिन भीष्म अष्टमी का व्रत रखते है.

21 फरवरी: माघ गुप्त नवरात्रि समापन- माघ और आषाढ़ मास में पड़ने वाले नवरात्र गुप्त माने जाते हैं. ये गुप्त नवरात्र तंत्र विद्या में विश्वास रखने वाले तांत्रिकों के लिये खास माने जाते हैं. इन 9 दिनों तक साधक मां दुर्गा की कठिन भक्ति और तपस्या करते हैं.

23 फरवरी: जया एकादशी- स्नान-दान और पुण्य प्रभाव के माह माघ मास की शुक्लपक्ष एकादशी को जया एकादशी कहा गया है. जया एकादशी के पुण्य के कारण मनुष्य सभी पापों से मुक्त होकर जीवन के हरेक क्षेत्र में विजयश्री प्राप्त करता है और मोक्ष का अधिकारी हो जाता है.

24 फरवरी: प्रदोष व्रत- हिन्दू धर्म के अनुसार, प्रदोष व्रत कलियुग में अति मंगलकारी और शिव कृपा प्रदान करनेवाला होता है. प्रदोष व्रत को करने से हर प्रकार का दोष मिट जाता है. सप्ताह केसातों दिन के प्रदोष व्रत का अपना विशेष महत्व है.

26 फरवरी: हज़रत अली का जन्मदिन- हजरत अली शिया मुस्लिम समुदाय के पहले इमाम थे. वहीं हजरत मोहम्मद पैगंबर के बाद सुन्नी मुसलमानों के चौथे खलीफा भी थे. इनका जन्म मक्का में हुआ था. हजरत अली के बेटे हुसैन ने कर्बला की लड़ाई में भूखे -प्यासे रहकर बताया कि जेहाद किसे कहते हैं. हजरत अली ने अमन और शान्ति का पैगाम दिया और बता दिया कि इस्लाम अहिंसा के पक्ष में है.

27 फरवरी: माघ पूर्णिमा, गुरु रविदास जयंती- माघ पूर्णिमा को महा माघी और माघी पूर्णिमा जैसे नामों से भी जानते हैं. इस दिन चंद्रमा की पूजा का विशेष महत्व होता है. पूर्णिमा के दिन दान, पुण्य और स्नान को शुभ फलकारी माना जाता है.