नई दिल्लीः साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण लग चुका है और यह आज दोपहर 11 बजकर 45 मिनट तक रहेगा. पौराणिक कथाओं के अनुसार यह माना जाता है कि ग्रहण किसी भी प्रकार का हो चाहे वह चंद्र ग्रहण हो या फिर सूर्य ग्रहण हमारे जनमानस और दैनिक जीवन में इनका व्यापक प्रभाव रहता है और यह किसी न किसी प्रकार से हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं.

धर्माचार्यों की मानें तो यह एक उपच्छाया चंद्रग्रहण है और इसका भारत में न के बराबर प्रभाव होगा. विशेषज्ञों का मानना है कि भले ही भारत में इसका प्रभाव न पड़े राशियों पर यह जरूर प्रभावकारी होगा. वेदाचार्यो के अनुसार इस बार का चंद्र ग्रहण मिथुन राशि पर लग रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि ऐसा चंद्र ग्रहण बहुत कम ही देखा जा सकता है. इसका प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ेगा.

अगर हम विशेषज्ञों और महात्माओं की बातों को मानें तो कुछ मंत्रों के जाप के द्वारा हम इस ग्रहण के अपनी राशि पर पड़ने वाले प्रभाव को खत्म या एकदम कम कर सकते हैं. तो आइए जानते हैं कि राशि के अनुसार वह कौन सा मंत्र हैं जिसके जाप करने से हम इसके प्रभाव को निष्क्रीय कर सकते हैं.

इन मंत्रों का करें जाप
1- मेष- ॐ आदित्याय नमः का जाप करें.
2- वृष- ॐ शं शनैश्चराय नमः का जाप करें.
3- मिथुन- ॐ बृं बृहस्पतये नमः का जाप करें.
4- कर्क- ॐ ऐं गुरुवे नमः का जाप करें.
5- सिंह- आदित्य ह्रदय स्तोत्र का पाठ करें.
6- कन्या- ॐ बृं बृहस्पतये नमः का जाप करें.
7- तुला- ॐ शं शनैश्चराय नमः का जाप करें.
8- वृश्चिक- ॐ रां राहवे नमः का जाप करें.
9- धनु- ॐ शं शनैश्चराय नमः का जाप करें.
10- मकर- ॐ शं शनैश्चराय नमः का जाप करें.
11- कुम्भ- ॐ ऐं गुरुवे नमः का जाप करें.
12- मीन- विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें.