नई दिल्ली: आज शुक्रवार का दिन है. हिंदू पंचांग के अनुसार लक्ष्मी देवी का दिन ज्योतिष विद्या के अनुसार शुक्रवार माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी का पूजन करने वो प्रसन्न होती हैं और भक्त की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं. शुक्रवार का दिन शुक्र ग्रह का होता है और शुक्र ग्रह सौंदर्य, ऐश्वर्य, वैभव, कला, संगीत, काम वासना एवं सभी प्रकार के सांसारिक सुखों का कारक माना जाता है. साथ ही माता लक्ष्मी का आशीर्वाद सदैव बना रहता है. शुक्रवार के रीत इन कामों के करने से आपके घर में कभी भी पैसों की कमी नहीं होगी. आइए जानते हैं उन कामों के बारे में- Also Read - Friday: शुक्रवार को इस तरह करें मां लक्ष्मी की पूजा, मिलेगा खास आशीर्वाद

लक्ष्मी माता की अराधना- ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्रवार की रात माता लक्ष्मी की 9 से 10 बजे के बीच विधिनुसार पूजा करने से आर्थिक समस्याएं दूर होती हैं. साथ ही घर में कभी भी पैसों की कमी नहीं होती. Also Read - Street Dancer 3D movie Review in hindi/ Street Dancer 3D movie Review in hindi : डांस…डांस…सिर्फ डांस…कहानी नदारद, ढाई घंटे का टार्चर

श्रीयंत्र- शुक्रवार की रात में लक्ष्मी की प्रतिमा को भी गुलाबी रंग पर रखना चाहिए. साथ ही मां की प्रतिमा के साथ श्रीयंत्र भी जरूर रखना चाहिए. पूजा की थाल में गाय के घी के 8 दीपक भी जलाएं और गुलाब के सुगंध वाली धूपबत्ती जलाकर मां को मावे की वर्फी का भोग लागएं. Also Read - Panga VS Street Dancer 3D Twitter reaction kangana rananut varun dhawan shraddha movie review in hindi/ Panga VS Street Dancer 3D Twitter Review: किस फिल्म में है कितना दम? 'स्ट्रीट डांसर 3डी'- 'पंगा' में से लोग कर रहे हैं किसको पसंद?

इस विधि से करें पूजा- शुक्रवार की रात माता लक्ष्मी की पूजा करने के लिए श्रीयंत्र और अष्टलक्ष्मी की प्रतिमा पर अष्ट गंध से ही तिलक करना चाहिए. इसके बाद कमल गट्टे की माला से ऐं ह्रीं श्रीं अष्टलक्ष्मीयै ह्रीं सिद्धये मम गृहे आगच्छागच्छ नमः स्वाहा. मंत्र को पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ 108 बार जपना चाहिए.

इन दिशाओं पर रखें दिया- 8 दीपकों को घर की आठ दिशाओं में रख दें. वहीं कमल गट्टे की माला को तिजोरी में रख दें. पूजा में भूल की क्षमा मांगे और माता से विनती करें.