नई दिल्ली: आज 2 अक्टूबर यानी शुक्रवार है. लक्ष्मी देवी का दिन ज्योतिष विद्या के अनुसार शुक्रवार माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि शुक्रवार के दिन माता लक्ष्मी का पूजन करने वो प्रसन्न होती हैं और भक्त की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करती हैं. माता लक्ष्मी की पूजा करने से व्यक्ति को दरिद्र, दुर्बल, कृपण, असंतुष्ट एवं पिछड़ेपन से मुक्ति मिल जाती है. मान्यता है कि गायत्री की एक किरण लक्ष्मी भी है. जो व्यक्ति इसे प्राप्त कर लेता है उसका जीवन सदा सुसम्पन्नों जैसी प्रसन्नताओं से भर जाता है. आज शुक्रवार है ऐसे में हम आपको माता लक्ष्मी की पूजा कैसे करनी चाहिए इसके बारे में बताने जा रहे हैं. आइए जानते हैं इसके बारे में –Also Read - Diwali 2021: दिवाली की सफाई के दौरान अगर आपको भी मिलती हैं ये चीजें तो समझ लें शुरू होने वाला है आपका अच्छा समय

– शुक्रवार को सुबह जल्दी उठकर स्नान कर लें. Also Read - सुबह उठकर कर लेंगे ये काम तो मां लक्ष्मी को आपके घर आने से नहीं रोक पाएगा कोई

– पूजा करते समय पूर्व दिशा की ओर मुख कर ही पूजा करें. Also Read - Shukravar Lakshmi Pujan: दुख, दरिद्रता से रहना चाहते हैं दूर तो शुक्रवार के दिन करें ये खास उपाय, बरसेगी माता लक्ष्मी की कृपा

– एक चौकी पर लाल रंग का कपड़ा बिछाएं. इस पर मां की प्रतिमा या तस्वीर स्थापित करें.

– अगर आपका बहुत अधिक खर्चा हो रहा है और पैसा रुक नहीं रहा है तो मां लक्ष्मी की तस्वीर मंदिर में ऐसी होनी चाहिए जिनके हाथों से धन गिर रहा हो.

– चौकी के सामने चावल का ढेर रखें. इस पर शुद्ध जल भरा तांबे का पात्र रखें.

– मां लक्ष्मी की फोटो के सामने घी का दिया जलाएं.

– मां लक्ष्मी को सफेद पुष्प और सफेद चंदन अर्पित करें.

– मां लक्ष्मी को इत्र चढ़ाएं. इस इत्र का इस्तेमाल आप रोजाना कर सकते हैं.

-मां लक्ष्मी की आरती गाएं और मंत्रों का उच्चारण करें.

मां लक्ष्मी के चरणों में हर दिन एक रुपये का सिक्का अर्पित करें. महीने के अंत में यह सिक्के किसी सौभाग्य की धनी स्त्री को दे दें.