गणेश चतुर्थी का त्योहार 22 अगस्त से मनायाा जा रहा है और करीब 1 सितंबर तक मनाया जाएगा, यानि अनंत चतुर्दशी तक गणपति बप्पा लोगों पर अपना प्यार और आर्शीवाद बिखेरेंगे. इस बार ज्योंतिष के जानकारों की मानें तो इस बार गणेश चतुर्थी के दिन हस्त नक्षत्र का योग बन रहा है और इस नक्षत्र का स्वामी चंद्रमा है. इस योग के दौरान पृथ्वी तत्व की राशि यानी कान्या राशि रहेगी. ऐसे में ये संयोग शुभ और अच्छा माना जा रहा है जिसकी वजह से गणपति की कृपा से पृथ्वी पर चल रहे सभी संकटों को खत्म करेगी औऱ सबकी रक्षा करेगी. Also Read - टीवी एक्ट्रेस Tejasswi Prakash की नयी खूबसूरत तस्वीरें, चेहरे पर उड़ी जुल्फें हैं या सावन की घटा छाई है

अगर आप भी बप्पा के भक्त हैं और इन 10 दिनों में आप गणपति की पूजा कर रहे हैं तो आप इन पांच मंत्रों का खासकर के जाप करें ऐसा करने से आपको कई सारे लाभ प्राप्त होंगे. तो चलिए जानते हैं आखिर कौन से हैं वो मंत्र जो आपको जाप करने जाहिए. Also Read - मिसाल: एक पांडाल में साथ मनाई जा रही गणेश चतुर्थी-मुहर्रम, ऐसा और कहां मिलेगा...

इन मंत्रों का करें जाप Also Read - Ganapati Visarjan 2020: इस वजह से किया जाता है गणपति विसर्जन, जानें क्या है महाभारत से जुड़ी कहानी

1. गणपति के मुख्य मंत्रों में से एक- “ॐ गं गणपतये नमः” गणपति के इस मंत्र का जाप करने से आपके जीवन के तमाम विघ्न को समाप्त करते हैं.

2. गणपति का दूसरा मंत्र “वक्रतुण्डाय हुं “भी बेहद लाभकारी साबित होता है. इस मंत्र को 108 बार जाप करें इससे आपके कार्य में रुकावट नहीं आएगी.

3. अगर कोरोना के दौर में आपकी नौकरी चली गई है और आपको आर्थिक समृद्धि चाहिए तो ऐसे में “ॐ श्रीं गं सौभ्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा।” मंत्र का 108 बार जाप आप दिन में दो बार ऐसा कर सकते हैं.

4. अगर आपकी शादी के लिए देर हो रही है और आपके अपने लिए एक अच्छे जीवनसाथी की तलाश है तो इसके लिए आप “ॐ वक्रतुण्डैक दंष्ट्राय क्लीं ह्रीं श्रीं गं गणपते वर वरद सर्वजनं मे वशमानय स्वाहा” मंत्र का 108 बार जाप करें.

5. अगर आपको निराशा ने घेर रखा है इसके साथ ही आपके घर में कलह,संकट आदि है तो इसके लिए ”ॐ हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा” मंत्र का जाप करें.