Ganesh Visarjan 2018: गणेश चतुर्थी के दिन लोग भगवान गणपति का लोग अपने घरों में स्वागत करते हैं और अगले 10 दिनों तक भगवान गणेश की सेवा करते हैं. कुछ लोग गणेश चतुर्थी के दिन गणपति को घर लाने के बाद अगले दिन ही उनका विसर्जन कर देते हैं. जबकि कुछ भक्त 3 दिन, 5 दिन और 7 दिन गणपति को अपने घर रखते हैं और उनकी सेवा करते हैं. कुछ जातक गणपति को अपने घर पूरे 10 दिन रखते हैं और अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान गणपति की धूमधाम से विदाई करते हैं.

Pitru Paksha 2018: गया में पिंडदान का क्या है महत्व, 10 बिंदुओं में जानिए

अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान गणेश की विदाई जरूरी होती है. हर हाल में अनंत चतुर्दशी के दिन गणपति विसर्जन होना ही चाहिए.

Pune Ganpati Visarjan Miravnuk 2017 Live

Ganesh Visarjan 2018: शुभ मुहूर्त और तिथि

अनंत चतुर्दशी पर होगा गणेश विसर्जन – 23 सितंबर 2018
प्रातः 8 बजे से 12 बजकर 30 मिनट तक
दोपहर 2 बजे से साढ़े तीन बजे तक
सायंकाल 6 बजकर 30 मिनट से रात्रि 11 बजे तक

Ganpati Visarjan Slogans

गणपति विसर्जन करने से पहले जातक हवन करते हैं और भगवान गणेश की विधिवत पूजन करते हैं. फिर गणपति की प्रतिमा को सम्मान के साथ उठाया जाता है. इस दौरान लोग विदाई गीत गाते हैं और ढोल नगाड़ों पर नृत्य करते हैं.

धर्म और आस्‍था से जुड़ी खबरों को पढ़ने के ल‍िए यहां क्‍ल‍िक करें.