Ganpati Bappa Visarjan Mantra: गणेश चतुर्थी का उत्सव 10 दिनों तक चलता है. अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश विसर्जन होता है. इस साल गणेश विसर्जन 19 सितंबर 2021 यानी रविवार के दिन होगा. गणपति विसर्जन के दौरान कुछ मंत्रों का जाप करने से श्री गणेश की विशेष कृपा होती है. ऐसे में आइए जानते हैं भगवान गणेश के विसर्जन मंत्र (Ganpati Bappa Visarjan Mantra)-

इस दिन श्री गणेश विसर्जन से पूर्व स्थापित श्री गणेश प्रतिमा का संकल्प मंत्र के बाद पूजन-आरती करना चाहिए. गणेश जी की मूर्ति पर सिंदूर चढ़ाएं. मंत्र बोलते हुए 21 दूर्वा-दल चढ़ाएं. 21 लड्डुओं का भोग लगाएं. इनमें से 5 लड्डू मूर्ति के पास चढ़ाएं और 5 ब्राह्मण को प्रदान कर दें. शेष लड्डू प्रसाद के रूप में बांट दें.

– ॐ गणाधिपाय नम:
– ॐ उमापुत्राय नम:
– ॐ विघ्ननाशनाय नम:
– ॐ विनायकाय नम:
– ॐ ईशपुत्राय नम:
– ॐ सर्वसिद्धप्रदाय नम:
– ॐ एकदन्ताय नम:
– ॐ इभवक्त्राय नम:
– ॐ मूषकवाहनाय नम:
– ॐ कुमारगुरवे नम:

इसके बाद श्री गणेश की आरती करें और विसर्जन स्थल पर ले जाकर पुन: एक बार आरती करें एवं श्री गणेश की प्रतिमा जल में विसर्जित कर दें और यह मंत्र बोलें-

यान्तु देवगणा: सर्वे पूजामादाय मामकीम्.
इष्टकामसमृद्धयर्थं पुनर्अपि पुनरागमनाय च ॥