Guru Gobind Singh Jayanti 2020 : सिखों के 10वें गुरु गुरु गोबिंद सिंह का जन्म बिहार के पटना में 22 दिसंबर 1666 को हुआ था. गुरु गोबिंद सिंह ने खालसा पंथ की स्थापना की और गुरु ग्रंथ साहिब को गुरु घोषित किया था. मुगलों के खिलाफ 14 बार युद्ध करने वाले गुरु गोबिंद सिंह का पूरा जीवन प्रेरणादायक था.

गुरु गोबिंद सिंह के जीवन में ऐसा बहुत कुछ था, जिसका अनुसरण यदि किया जाए तो जीवन में सफलता हासिल हो सकती है. उनके उपदेशों को पढ़कर आप अपने जीवन में भी बदलाव ला सकते हैं.

1

जब आप अपने अन्दर से अहंकार मिटा देंगे तभी आपको वास्तविक शांति प्राप्त होगी.

2

ईश्वर ने हमें जन्म दिया है ताकि हम संसार में अच्छे काम करें और बुराई को दूर करें.

3

अच्छे कर्मों से ही आप ईश्वर को पा सकते हैं. अच्छे कर्म करने वालों की ही ईश्वर मदद करता है.

4

मुझे उसका सेवक मानो. और इसमें कोई संदेह मत रखो.

5

असहायों पर अपनी तलवार चलाने के लिए उतावले मत हो, अन्यथा विधाता तुम्हारा खून बहायेगा.

6

उसने हेमशा अपने अनुयायियों को आराम दिया है और हर समय उनकी मदद की है.

7

हे ईश्वर मुझे आशीर्वाद दें कि मैं कभी अच्छे कर्म करने में संकोच ना करूंं.

8

जब बाकी सभी तरीके विफल हो जाएं, तो हाथ में तलवार उठाना सही है.

9

जो कोई भी मुझे भगवान कहे, वो नरक में चला जाए.

10

इंसान से प्रेम ही ईश्वर की सच्ची भक्ति है.

11

मैं उन लोगों को पसंद करता हूँ जो सच्चाई के मार्ग पर चलते हैं.

12

अगर आप केवल भविष्य के बारे में सोचते रहेंगे तो वर्तमान भी खो देंगे.

13

शस्त्र विद्या अतै घोड़े दी सवारी दा अभ्यास करना

14

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.