Guru Nanak Jayanti 2019 पर दुनिया भर के गुरुद्वारों में खास तैयारी की जाती है. लोग दूर-दूर से मशहूर गुरुद्वारों में शीश नवाने पहुंचते हैं.

इस मौके पर दुनिया भर में प्रसिद्ध गोल्‍डन टेंपल यानी स्‍वर्ण मंदिर, अमृतसर में भी विशेष इंतजाम किए जाते हैं.

Guru Nanak Jayanti 2019: गुरु नानक जी के 10 अनमोल विचार, इस गुरुपर्व जरूर पढ़ें…

स्‍वर्ण मंदिर में तैयारी
अमृतसर के गोल्डन टेंपल में इस पर्व पर होने वाला आयोजन महत्वपूर्ण माना जाता है. इस दिन गुरु के लंगर की विशेष व्यवस्था होती है. यहां आने वाले हर व्यक्ति को गुरु का लंगर दिया जाता है. यह शाकाहारी भोजन होता है.

कड़ा प्रसाद को इस दिन बांटने के लिए विशेष तौर पर तैयार किया जाता है. इसे आटे, चानी और देसी घी में बनाया जाता है.

ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रसाद बांटने के लिए एक बड़े कहाड़े में बनाया जाता है. सिख धर्म में भोजन कराने को सेवा के रूप में देखा जाता है.

Guru Nanak Jayanti 2019: गुरुपर्व तिथि, महत्‍व, क्‍यों कहा जाता है प्रकाश पर्व?

गुरु नानक जन्‍म
गुरु नानक जी का जन्‍म 15 अप्रैल 1469 को तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था. हिंदू पंचांग के अनुसार, कार्तिक महीने की पूर्णिमा के दिन उनका जन्‍मदिन होता है. इसलिए इसे प्रकाश पर्व भी कहा जाता है. इस साल गुरुनानक की 550वीं जयंती है.

Guru Nanak Jayanti 2019 Date
गुरु नानक जयंती इस बार 12 नवंबर को मनाई जाएगी. पूर्णिमा तिथि 11 नवंबर को शाम 6:02 बजे से आरंभ होगी और 12 नवंबर शाम 7:04 बजे तक रहेगी.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.