इस वर्ष हज यात्रा के लिए गुरुवार को 304 तीर्थयात्रियों का पहला जत्था श्रीनगर से सऊदी अरब के लिए रवाना हो गया. Also Read - Haj 2020: सऊदी अरब ने कहा- इस बार हज के लिए न आएं भारतीय, मोदी सरकार लौटाएगी पैसा

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्य पाल मलिक श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर हज यात्रियों को विदा करने आए थे. Also Read - Hajj Yatra 2020: आखिर क्यों कैंसिल हुई हज यात्रा, कमेटी वापस करेगी जमा पैसे, जानें क्या है बड़ी वजह

Also Read - हज यात्रा 2019: हज यात्रियों की मुश्किलें दूर करेगा ये मोबाइल एप...

तीर्थयात्रियों को श्रीनगर शहर के बेमिना क्षेत्र के हज हाउस से विशेष बसों में हवाई अड्डे तक ले जाया गया.

इस साल राज्य से 11,500 से अधिक यात्री तीर्थ यात्रा पर जाएंगे. हज के लिए विमान श्रीनगर से सऊदी अरब के लिए 29 जुलाई तक उड़ान भरेंगे. 20 जुलाई तक सभी हज विमान मदीना हवाई अड्डे पर उतरेंगे.

इसके बाद 29 जुलाई तक श्रीनगर से जाने वाले विमान मक्का हवाई अड्डे पर उतरेंगे.

श्रीनगर हवाई अड्डे पर यात्रियों के लिए विदेशी मुद्रा की व्यवस्था की गई है.