Hanuman Jayanti 2019: इस बार 19 अप्रैल, शुक्रवार को है. हनुमान जयंती हर साल चैत्र शुक्‍ल पूर्णिमा को मनाई जाती है.

Tuesday Fast: मंगलवार को ये काम करने से प्रसन्‍न होते हैं बजरंगबली…

कहा जाता है की इस दिन भगवान हनुमान की सच्चे मन से पूजा करने से सभी कष्ट दूर होते हैं. हनुमान जी की पूजा लाल सिंदूर से की जाए तो हर बिगड़ा काम बन जाता है.

जन्म कथा
हनुमान जी को भगवान शिव का 11वां अवतार माना जाता है. हनुमान जी के जन्म से जुड़ी सबसे प्रचलित पौराणिक कथा के अनुसार, जब समुद्र मंथन किया गया, तो उससे निकले अमृत को असुरों ने छीन लिया था. इसके बाद देव-दानवों के बीच युद्ध छिड़ गया. जो अनंत काल तक चला.

ये देख भगवान विष्णु ने मोहिनी रूप धारण किया. उस रूप को देख भगवान शिव भी कामातुर हो गए थे. भगवान शिव ने वीर्य त्याग किया, जिसे पवनदेव ने वानरराज केसरी की पत्नी अंजना के गर्भ में प्रविष्ट कर दिया. इसके फलस्वरूप माता अंजना के गर्भ से श्री हनुमान का जन्म हुआ था.

भगवान‍ विष्‍णु को कैसे मिला था सुदर्शन चक्र? ये कथा जानते हैं आप?

हनुमान पूजा का महत्‍व
कहा जाता है कि हनुमान जी की पूजा करने से शनि का प्रकोप कम होता है. हर मंगलवार और शनिवार हनुमान चालीसा का पाठ करने से ना केवल शनि की कृपा मिलती है, बल्कि जीवन में कभी धन की कमी नहीं होती.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.