Hanuman Jayanti 2019: 19 अप्रैल, शुक्रवार को हनुमान जयंती मनाई जाएगी. इस दिन हनुमान पूजा का विशेष महत्‍व है.

Hanuman Jayanti 2019: कब है हनुमान जयंती, भगवान शिव के 11वें अवतार हैं बजरंग बली, ऐसे हुआ था जन्‍म…

कहा जाता है की इस दिन भगवान हनुमान की सच्चे मन से पूजा करने से सभी कष्ट दूर होते हैं. हनुमान जी की पूजा लाल सिंदूर से की जाए तो हर बिगड़ा काम बन जाता है.

हनुमान पूजा का महत्‍व
कहा जाता है कि हनुमान जी की पूजा करने से शनि का प्रकोप कम होता है. हर मंगलवार और शनिवार हनुमान चालीसा का पाठ करने से ना केवल शनि की कृपा मिलती है, बल्कि जीवन में कभी धन की कमी नहीं होती.

हनुमान जयंती व्रत एवं पूजन विधि
हनुमान जयंती का व्रत रखने वालों को कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है. सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठकर भगवान श्रीराम, माता सीता व श्री हनुमान का स्मरण करने के बाद व्रत का संकल्‍प लें. इन्हें जनेऊ भी चढ़ाया जाता है. सिंदूर चढ़ाएं.

Tuesday Fast: मंगलवार को ये काम करने से प्रसन्‍न होते हैं बजरंगबली…

हनुमान चालीसा और बजरंग बाण का पाठ करें. हनुमान जी की आरती करें. इस दिन स्वामी तुलसीदास द्वारा रचित श्रीरामचरितमानस के सुंदरकांड या हनुमान चालीसा का अखंड पाठ भी करवाया सकते हैं.

प्रसाद के रुप में बजरंग बली को गुड़, भीगे या भुने चने और बेसन के लड्डू चढ़ाए जाते हैं. ध्‍यान रहे कि भगवान की पूजा, प्रसाद से पहले सदैव श्री राम की पूजा या उनका नाम लें. इससे बजरंग बली प्रसन्‍न होते हैं. मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.