Happy Vivah Panchami 2018 Wishes: मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी को भगवान श्री राम और जनकपुत्री जानकी का विवाह हुआ था. इस कारण इस दिन का महत्व और भी बढ़ जाता है. भगवान रात को चेतना और मां सीता को प्रकृति का प्रतीक माना जाता है. ऐसे में दोनों का मिलन इस सृष्टि के लिए उत्तम माना जाता है. Also Read - जयशंकर की चीन को दो टूक, 'एलएसी पर यथास्थिति में परिवर्तन का कोई भी एकतरफा प्रयास स्वीकार नहीं'

Also Read - कनाडा 401,000 नए प्रवासियों को स्वीकार करेगा, भारतीय होंगे सबसे बड़े लाभार्थी

ऐसी मान्यता है कि विवाह पंचमी के दिन खास मंत्रों का जाप करने से विवाह में आ रहे विघ्न समाप्त हो जाते हैं और शीघ्र विवाह का योग बनता है. Also Read - भारत ने Su-30MKI fighter से दागी ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल, जहाज को निशाना बनाया

Vivah Panchami 2018: जानिये कब है विवाह पंचमी, क्या है महत्व

4

जिनके मन में श्री राम है,

भाग्य में उसके वैकुण्ठ धाम है,

उनके चरणो में जिसने जीवन वार दिया,

संसार में उसका कल्याण है.

जिया श्री राम…! जय श्री राम…

vivah-panchami-2018-4

श्री राम जय राम जय जय राम,

हरे राम हरे राम हरे राम,

हनुमान जी की तरह जपते जाओ ,

अपनी सारी बाधाएं दूर करते जाओ,

3

सुखद सुंदर एवम सफल जीवन की तरफ श्री राम आपका मार्गदर्शन करे.

राम का जीवन एक प्रेरणा स्रोत है. भगवान श्री राम चंद्र की जय…!!

vivah-panchami-2018-2

विवाह पंचमी पर आपके सभी कष्ट दूूूर हो जाएं, आप अपनों के करीब और सेहत से अमीर हो जाएं. विवाह पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं.

vivah-panchami-2018-3

गरज उठे गगन सारा,

समुद्र छोड़ें अपना किनारा,

हिल जाए जहान सारा,

जब गूंजे जय श्री राम का नारा.

vivah-panchami-2018-5

राम जिनका नाम है, अयोध्या जिनका धाम है,

ऐसे रघुनंदन को, हमारा प्रणाम है,

आपको और आपके परिवार को

जय श्री राम  जय श्री राम

vivah-panchami-2018-10

मंगल भवन अमंगल हारी,

धुर्वे दशरथ अचर बिहारी,

राम सिया राम सिया राम

जय जय राम

vivah-panchami-2018-6

विवाह पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं.

vivah-panchami-2018-7

भगवान राम और माता सीता आपके जीवन के सभी विघ्न हर लें और आपके जीवन में खुशियों और सेहत की रौशनी दें. विवाह पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं.

vivah-panchami-2018-8

विवाह पंचमी के अवसर पर आप सभी को बहुत बहुत शुभकामनाएं.

vivah-panchami-2018-12

विवाह पंचमी के दिन भगवान राम और मां सीता की शादी हुई थी. लेकिन इस दिन आमतौर पर शादी करने की मनाही होती है. हिन्दूू धर्म में इस दिन का खास महत्व है.

धर्म से जुड़ी अन्य खबरों को पढ़ने के लिए धर्म पर क्लिक करें.