Hariyali Teej 2019: श्रावण मास में आने वाली हरियाली तीज का काफी महत्‍व है. इस दिन सुहागिनें पति की लंबी आयु के लिए व्रत रखती हैं.Also Read - घेवर की रेसिपी बताएं : इस तीज घर पर खुद ही बनाएं घेवर, ये आसान सी रेसिपी आएगी काम

Also Read - हरियाली तीज 2022 : हरियाली तीज पर बनाएं गुजिया, स्वादिष्ट पकवान देखकर मेहमान भी हो जाएंगे खुश

कब मनाई जाती है Also Read - हरियाली तीज की शुभकामनाएं संदेश : इस दिन अपनों को जरूर भेजें ये खास Messages/Quotes, खुशियां बांटने से ही बढ़ेंगी

श्रावण माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया को हरियाली तीज पर्व के रूप में मनाया जाता है. इसे हरियाली इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह सावन के महीने में आता है.

क्‍या करती हैं सुहागिनें

महिलाएं इस दिन मां पार्वती और भगवान शंकर की पूजा करती हैं और अपने पति के लंबी आयु की कामना करती हैं. व्रत रखती हैं. श्रृंगार कर शिव-पार्वती पूजन किया जाता है.

बेहद सतर्क होकर पहनना चाहिए नीलम, इन 8 तरीकों से जानें अनुकूल है या नहीं…

Hariyali Teej 2019 Date

हरियाली तीज का व्रत इस साल 3 अगस्‍त, शनिवार को किया जाएगा.

हरियाली तीज पंरपरा

कई राज्यों में इस दिन नवविवाहित लड़कियों को मायके बुला लिया जाता है और ससुराल से कपड़े, गहनें, श्रृंगार का सामान, मेहंदी और मिठाई भेजी जाती है. जबकि कुछ राज्यों में स्त्रियां ससुराल में रहकर ही इस पूजा को सम्पन्न करती हैं. व्रत रखती हैं और पति की सुख, समृद्धि के लिए व्रत रखती हैं. मायके से उनके लिए कपड़े, गहने, श्रृंगार का सामान, मेहंदी और मिठाई भेजी जाती है. ऐसी मान्यता है कि इस दिन विवाहिता को मायके से भेजी गई चीजों को प्रयोग करना चाहिए.

झूला झूलने का महत्‍व

इस दिन झूला झूलने का भी खास महत्व है. बता दें कि हरियाली तीज श्रावण माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है. इसे छोटी तीज या श्रावण तीज भी कहते हैं. इसके 15 दिनों बाद एक और तीज होती है कजरी तीज. उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश समेत उत्तर भारत के कई शहरों में हरियाली तीज का पर्व मनाया जाता है.

हरियाली तीज 2019

तिथि: 3 अगस्त

तृतीया तिथि – शनिवार, 3 अगस्त 2019

तृतीया तिथि प्रारंभ – 01:36 बजे (3 अगस्त 2019)

तृतीया तिथि समाप्त – 22:05 बजे (3 अगस्त 2019)